Last Updated: 01 Dec 2020 07:06 AM

agrasamachar

  • UK NRI की सफल कहानी, भारत से सामान अपने दरवाजे पर प्राप्त करें

     

    लम्बे  समय से ब्रिटेन में रह रही NRI चेतना सोमवरापु की हैदराबाद स्थित स्टार्टअप फॉरवर्ड पार्सल भारत से सामान को आपके दरवाज़े तक दुनिया में कहीं भी पहुंचा सकती है। उन्हें उचित मूल्य पर भारतीय उत्पादों की पकड़ बनाने में भरी सफलता मिली। यहाँ तक कि मिठाई, अचार और देसी कपड़े तक आप दुनिया में कहीं भी घर बैठे मँगा सकते हैं । 10 वर्षों से अधिक समय तक ब्रिटेन में रहने वाले एक एनआरआई के रूप में, चेतना सोमवरापू ने लगातार उचित लागतों पर भारतीय वस्तुओं की पकड़ बनाने के लिए संघर्ष किया। उसने भारत से जो कुछ भी आया उसे डेसर्ट, अचार और देखभाल के साथ जातीय वस्त्र संचित किया। विदेशों में अधिकांश गैर-निवासी भारतीयों के लिए, पारंपरिक वस्तुओं के लिए प्रवेश पाने के लिए सबसे कम खर्चीला दृष्टिकोण को अपनाया है । 

  • प्रधानमंत्री ने COVID-19 की भारतीय वैक्सीन के विकास और निर्माण की समीक्षा की

     

    पुणे - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने COVID-19 वैक्सीन के विकास और विनिर्माण की समीक्षा करने के लिए पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, अहमदाबाद में ज़ाइडस बायोटेक पार्क और हैदराबाद में भारत बायोटेक  का दौरा किया। पीएम की यात्रा का उद्देश्य वैक्सीन की तैयारियों, चुनौतियों और रोडमैप के बारे में  नागरिकों का टीकाकरण करने का पहला दृष्टिकोण है।

    उन्होंने वैज्ञानिकों से अपनी स्वतंत्र और स्पष्ट राय व्यक्त करने के लिए कहा कि देश अपनी नियामक प्रक्रिया में और सुधार कैसे कर सकता है। वैज्ञानिकों ने इस बात का भी अवलोकन प्रस्तुत किया कि कैसे वे COVID-19 को बेहतर ढंग से लड़ने के लिए विभिन्न नई और पुनर्निर्मित दवाओं का विकास कर रहे हैं।

  • कोविड सक्रिय मामलों में महाराष्ट्र शीर्ष पर

     

    भारत के सक्रिय मामले आज 4,55,555 पर हैं। भारत के कुल पॉजिटिव मामलों के इस समय 4.89 प्रतिशत सक्रिय मामले हैं। कुल सक्रिय मामलों में लगभग 70 प्रतिशत (69.59 प्रतिशत) योगदान आठ राज्यों , केंद्र शासित प्रदेशों यानी महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ से है।

    आज की तारीख में कोविड के कुल 87,014 सक्रिय मामले के साथ महाराष्ट्र शीर्ष पर बना हुआ है। केरल में 64,615 सक्रिय मामले हैं जबकि दिल्ली में 38,734 कुल सक्रिय मामले हैं।महाराष्ट्र में अतिरिक्त 1,526 मामलों के साथ अधिकतम पॉजिटिव बदलाव दर्ज किया गया है जबकि छत्तीसगढ़ में 719 सक्रिय मामलों की कमी के साथ अधिकतम निगेटिव बदलाव दर्ज किया गया है।

    देश में पिछले 24 घंटों में कोविड के 43,082 नए मामले दर्ज किए गए हैं।  इनमें से, 76.93 प्रतिशत मामले दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों से सामने आये हैं। 

    महाराष्ट्र में कोविड के सबसे अधिक 6,406 नए मामले सामने आए। दिल्ली ने 5,475 नए मामले दर्ज किए हैं जबकि केरल में पिछले 24 घंटों में 5,378 नए मामले दर्ज किए हैं।

  • न्यूजीलैंड के नवनियुक्त सांसद डॉ गौरव शर्मा ने संस्कृत में शपथ ली

     

    वेलिंगटन - न्यूजीलैंड की संसद में सबसे कम उम्र के नवनिर्वाचित सांसद डॉ गौरव शर्मा ने शपथ ली, पहले NZs में स्वदेशी माओरी भाषा, उसके बाद भारतीय  भाषा - संस्कृत, जिसमें भारत और न्यूजीलैंड दोनों की सांस्कृतिक परंपराओं के प्रति गहरा सम्मान दिखा।

    भारतीय मूल के सांसद डॉ शर्मा ने कहा, आज मैंने अपनी भारतीय विरासत को स्वीकार करने के लिए  संस्कृत में भी शपथ ली । मैंने पूर्व में Unitec के माध्यम से Te Reo सीखने और संस्कृत सीखने की कोशिश की उस समय  मैं भारत में प्राथमिक और मध्य विद्यालय में था।

    संस्कृत एक 3500 वर्ष पुरानी भाषा है जिससे  से कई वर्तमान भारतीय भाषाओं की उत्पत्ति हुई है। मुझे  बताया गया है कि मैं भारत के बाहर संस्कृत में शपथ लेने वाला केवल दूसरा व्यक्ति हूं। उन्होंने कहा , मैं 53 वें न्यूजीलैंड की संसद का हिस्सा होने के लिए गहराई से  हैमिल्टन के साथ-साथ अगले तीन वर्षों में न्यूजीलैंड की सेवा के लिए तत्पर हूं।

  • लैंडलाइन फोन से मोबाइल पर कॉल करते समय नंबर से पहले ‘0’ लगाना अनिवार्य होगा

     

    नई दिल्ली - फिक्स्ड लाइन और मोबाइल के लिए भविष्य में और अधिक नंबर वितरित किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए ट्राई की सिफ़रिशों को दूरसंचार विभाग ने मंजूर करे हुए उसे क्रियान्वित करने का फैसला किया है। 

    सभी फिक्स्ड लाइन से मोबाइल पर फोन करने के लिए 15 जनवरी, 2021 से नंबर से पहले ‘0’ लगाना अनिवार्य होगा।लैंडलाइन से लैंडलाइन, मोबाइल से लैंडलाइन और मोबाइल से मोबाइल पर फोन करने में कोई बदलाव नहीं होगा।इसके लिए उपयुक्त घोषणा की जाएगी। यह घोषणा जब कोई उपयोगकर्ता लैंडलाइन से मोबाइल पर बिना ‘0’ लगाए नंबर मिलाएगा तब उसे सुनाई देगी।

    सभी लैंडलाइन उपयोगकर्ताओं को ‘0’ डायल करने की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।इन उपायों के चलते लगभग 2539 मिलियन संख्या शृंखला बनाई जा सकेगी। इससे भविष्य में अधिक संख्या में नए नंबरों की मांग पूरी की जा सकेगी। 

    नए नंबरों के लिए पर्याप्त स्थान सृजित होने पर आने वाले समय में नए नंबर जुड़ने से मोबाइल उपभोक्ताओं को व्यापक रूप में लाभ होगा।इस नए बदलाव के लिए यह ध्यान रखा गया है कि उपयोगकर्ताओं को किसी तरह की समस्या ना हो और नए नंबरों के लिए पर्याप्त स्थान सृजित किया जा सके।

  • भारत सरकार ने 43 मोबाइल ऐप के उपयोग पर रोक लगायी

     

    इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार ने आज सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए के अंतर्गत एक आदेश जारी किया है, जिसके तहत 43 मोबाइल ऐप्स तक पहुंच पर रोक लगायी गयी है। यह कार्रवाई प्राप्त इनपुट के आधार पर की गयी है। इनपुट के अनुसार ये ऐप्स ऐसी गतिविधियों में संलग्न हैं, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, देश की रक्षा, देश की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए नुकसानदेह हैं। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र, गृह मंत्रालय से प्राप्त व्यापक रिपोर्टों के आधार पर भारत में उपयोगकर्ताओं द्वारा इन ऐप्स तक पहुंच को अवरुद्ध करने का आदेश जारी किया है।

    इससे पहले 29 जून, 2020 को भारत सरकार ने 59 मोबाइल ऐप्स तक पहुंच को अवरुद्ध किया था और 2 सितंबर, 2020 को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए के तहत 118 अन्य ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया

    गया था। सरकार सभी मोर्चों पर भारतीय नागरिकों के हितों की रक्षा और देश की संप्रभुता एवं अखंडता के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार इसे सुनिश्चित करने के लिए सभी संभव कदम उठाएगी।

  • भारत में रिकवरी दर लगातार 93 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है

    नई दिल्ली - भारत में सामने आए कुल पॉजिटिव मामलों का इस समय सक्रिय मामला (4,43,486) 4.85 प्रतिशत है और यह कुल सक्रिय मामले का पांच प्रतिशत से कम है। रिकवरी की दर 93 प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है क्योंकि सभी मामलों का 93.68 प्रतिशत मामले अब तक ठीक हो चुके हैं।                                                                                                               

     पिछले 24 घंटों में देश में कुल 41,024 नई रिकवरी दर्ज की गई है जिसके साथ ही रिकवरी के कुल मामले 85,62,641 हो गए हैं। रिकवर मामलों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है और वर्तमान में 81,19,155 है। पिछले 24 घंटों में, 44,059 व्यक्ति कोविड से संक्रमित पाए गए हैं। 8 नवंबर के बाद से पिछले 16 दिनों से भारत में 50,000 से कम मामले दर्ज किया जा रहा है। यह माना जा रहा है कि पश्चिमी गोलार्ध के कई देशों में सर्दी की शुरुआत के कारण नए मामलों की भारी वृद्धि देखी जा रही है। 

  • रैंडम कोविड टेस्ट होंगे दिल्ली से उत्तर प्रदेश में आने वालों के

     

    दिल्ली में बढ़ती  कोरोनावायरस पॉजिटिव लोगों की संख्या के मद्देनजर, उत्तर प्रदेश सरकार ने दिल्ली  से आने वाले लोगों का रैंडम  कोविड टेस्ट  शुरू कर दिया है क्योंकि राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान 2,588 कोविड  ​​-19 मामले दर्ज किए गए हैं। 

    जानकारी अनुसार  दीवाली के बाद कोविद परीक्षण में वृद्धि की गई  और इस  शनिवार को 1,75,128 परीक्षण किए गए।अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद  अनुसार  वायरस प्रसार को कण्ट्रोल करने के लिए दिल्ली से प्रवेश करने लोगों का   विशेष रूप से सख्ती से परीक्षण किया जायेगा। उन्होंने कहा कि नवंबर में, राज्य में सकारात्मकता दर राष्ट्रीय औसत से नीचे 1.6 प्रतिशत पर रही।अमित मोहन ने बताया कि गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, लखनऊ और वाराणसी जैसे पांच जिलों में सकारात्मकता दर बहुत अधिक है, जबकि अंबेडकर नगर, बलरामपुर, हाथरस, कानपुर देहात और श्रावस्ती जैसे जिलों में सकारात्मकता दर सबसे कम है।


  • भारतीय-अमेरिकी माला अडिगा भावी फर्स्ट अमेरिकन लेडी जिल बाइडन की नीति निदेशक नियुक्त

     

    वॉशिंगटन: अमेरिका के चुने गए नए राष्ट्रपति  जो बाइडन  ने भारतीय-अमेरिकी माला अडिगा को अपनी पत्नी जिल बाइडन के नीति निदेशक के रूप में नियुक्त किया है। शिक्षा से वकील, माला अडिगा बाइडन -हैरिस  चुनाव अभियान के दौरान वरिष्ठ  नीति सलाहकार थीं , जिसने जो बाइडन की ऐतिहासिक जीत को बहुत बल दिया  ।

                                            व्हाइट हाउस में माला के लिए यह पहला मौका नहीं है। 2009 से 2017 तक ओबामा की अध्यक्षता के दौरान, उन्होंने जिल बिडेन की  वरिष्ठ सलाहकार के रूप में भी काम किया है। वह  ग्रिनेल कॉलेज, मिनेसोटा स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ और यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो लॉ स्कूल से एक स्नातक हैं । वह  शैक्षिक कार्यक्रमों के लिए राज्य  उप सहायक सचिव रह चुकी हैं।  इसके दौरान उन्होंने  फुलब्राइट और गिलमैन जैसे अंतर्राष्ट्रीय शैक्षिक कार्यक्रमों को चल्या था ।

  • आगरा में साफ्टवेयर पार्क प्रोजेक्‍ट के शीघ्र पूरा होने की संभावनायें बढीं

     लटके चल रहे  प्रोजेक्‍ट को अब  जरूर मिलेगी गति: प्रो बघेल

    काम में  तेज़ी लायें और पूरा करवायें:फोटो असलम सलीमी

    (राजीव सक्‍सेना) आगरा: ताज सिटी में शीघ्र ही साफ्टवेयर पार्क बनकर शुरू होजाने की संभावनाये एक बार फिर से उत्‍न्‍न हो गयी हैं।आगरा के सांसद प्रो. एस पी सिह बघेल इस प्राजेक्‍ट को आगरा के युवाओं के लिये रोजगार संभावनाओं को बढाने वाला मानते हैं साथ ही आई टी क लिये आगरा की आधिकारिक जरूरत भी। इस प्राजेक्‍ट के तहत आई टी पार्क के लिये जरूरी अवस्‍थापना का निर्माण   नेशनल प्रोजेक्‍टस कास्‍ट्रैक्‍शन कार्पोरेशन के द्वारा करवाया जा रहा है। कार्पोरेशन पार्क स्‍वीकृत मानकों और नक्‍शे के अनुरूप निर्माण पूरा करवा के इलैक्‍‍‍‍‍‍‍‍‍ट्रानिक्‍स  ऐंड इन्‍फार्मेशन मिनिस्‍ट्री के तहत संचलित आटोनोमस सोसायटी साफ्वेयर टैक्‍नेलाजी पार्क्‍स आफ इंडिया(एस टी पी आई)  को संचालन हेतु हस्‍तांतरित कर देगा।

    प्रोजेक्‍ट मैनेजर श्री अभिशेक

    ने बताया कि ने  काम तेजी से जारी है, अगर कुछ अप्रत्‍याशित नहीं हुआ तो यह लक्ष्‍य के अनुरूप ही साल पूरा करवा दिया जायेगा। एक अन्‍य जानकारी में कहा कि टी टी जैड एरिया में प्रोजेक्‍ट होने से  औपचारिकताएं  कुछ ज्‍यादा थीं,लेकिन अब लगभग सभी पूरी हो चुकी हैं।

    उन्‍होंने बताया कि प्रोजेक्‍ट की प्रगति को लेकर नियमित विभागीय बैठकें होती रही हैं।आगरा विकास प्राधिकरण के अधिकारी भी पार्क प्राजेक्‍ट को लेकर होती रही बैठकों में आते  रहे हैं।

     यह प्रोजक्‍ट बहुप्रचारित होने के बादजूद लंवित होता रहा, आगरा विकास प्राधिकरण के द्वारा जमीन उपलब्‍ध करवाने और उस पर निर्माण के लिये जरूरी अनुमतियों को प्राप्‍त करने में अन्‍य स्‍थानों की तुलना में कहीं अधिक विलंब होना रहा। नमर्माण स्‍थल का आगरा विकास प्राधिकरण की शास्‍त्री पुरम  योजना का ताज ट्रिपेजियम जोन में होना रहा। 

     यह जानकारी इलैक्‍ट्रानिक्‍स ऐंड इन्‍फार्मेशन मिनिस्‍ट्री भारत सरकार के तहत संचालित आटोनामस सोसायटी के के मुख्‍य प्रशासनिक अधिकारी श्री राकेश गैरोला ने अपने एक पत्र में जानकारी दी है कि पार्क इसी साल शुरू हो जायेगा । प्रधानमंत्री कार्यालय से इस प्रोजेक्‍ट के सम्‍बन्‍ध में आगरा के जर्नलिस्‍ट रजीव सक्‍सेना ने आधिकारिक जानकारी देने का आग्रह किया था। 

    चूंकि यह प्रोजेक्‍ट बडे निवेश के बावजूद अब तक पूरा नहीं हुआ है और न हीं रोजगार और औद्यौगिक विकास से संबधित जिला और मंडल स्‍तारीय बैठकों में होने वाली चर्चाओं में ही स्‍थान पा सका इस लिये महानगर के आई टी प्रौफेशनलों ने भी इसको लेकर खास दिलचस्‍पी दिखायी। साफ्टवेयर और आई टी सैक्‍टर के एस्‍टैब्‍लिश प्रौफेशनल्‍स द्वारा इसको लेकर खास दिलचस्‍पी न दिखाने की एक अपरोक्ष वजह आई टी सक्‍टर में बनती जा रही व्‍यवसायिक प्रतिस्‍पर्धी स्‍थितियों को यथा संभव थामे रखने का भाव रहा।    ।

    आगरा में साफ्टवेयर टैक्‍नेलाजी पार्क की मांग बहुत पुरानी है। दरअसल इन्‍फोरमेशन टैक्‍नेलाजी एक्‍ट बनजाने के बाद से यह और प्रवल हो गयी।    पहले यह परंपरागत होते रहने वाले मैन्‍युआल कागजी काम काज का एक एच्‍छिक विकल्‍प बनी किन्‍तु बैंकिग और रूपये के लेनदेन में विधिक स्‍वीकरोक्‍ति के बाद से तो न केवल अनिवार्य हो गयी अपितू सहजता के साथ स्‍वीकार भी की जाने लगी।

    साफ्वेयर टैक्‍नेलाजी पार्क्‍स आफ इंडिया (एस टी पी आई) के गठन के बाद जैसे ही उत्‍तर प्रदेश में साफ्टवेयरपाक्र बनाये जाने के को काय्रयेजना बनी उसमें नौयडा के साथ ही दूसरे नम्‍बर पर आगरा कारोबार के लिये डिजिटल प्‍लेट फार्म होना अब जरूरी हो गया है,आन लाइन पेमेंट, आन लाइन फाइलिग, आर्डर बुकिग आदि से ई-गवर्नेंस का विस्‍तार हुआ। एब्‍स,पोर्टल, ई गवर्नेंस आदि कई प्राजेक्‍टों पर काम हो रहे हैं जिनके लिये सुविधा प्रदाता नोडल एजैंसी की जरूरत है। साफ्टवेयर पार्क ई गवर्नेंस के लिये भारत सरकार का एक विधिक एवं आधिकारिक माध्‍यम की भूमिका निर्वाहन करता है। जिसकी कि ई-गर्वनेंस के मौजूदा दौर में आगरा में अहम जरूरत महसूस की जाती  है।

    यूपी में, एसटीपीआई 1992 से कार्य कर रहा है और इसका विस्तार अब तक  लखनऊ, कानपुर और प्रयागराज में तीन उप-केंद्रों तक है। प्रदेश  सरकार के सहयोग से राज्य भर में चार और एसटीपीआई केंद्र मेरठ, आगरा, गोरखपुर और वाराणसी में विकसित किए जा रहे हैं। एसटीपीआई अधिकारी ने बताया आगरा केंद्र का काम जोरों पर है।  आगरा के लिये आई टी पार्क और भी अधिक महत्‍वपूर्ण है,यह अपने आप में एक बहुत बडा निवेश न भी हो किन्‍तु बडे निवेशों के लिये सहजता सुलभ करने का एक सशक्‍त माध्‍यम साबित होंगा। 

    आगरा के लिये अहम जरूरत 

    आगरा के सांसद प्रोफेसर एस पी सह बघेल ने कहा है कि निश्‍चित रूप से यह एक बहुत बडा प्रोजेक्‍ट न भी हो किन्‍तु स्‍थानीय व्‍यवसायिक और आऊट सोर्सिंग की सेवाये लेने वाले देश 
     
    विदेश के बडे प्रतिष्‍ठानों को दृष्‍टिगत अत्‍यंम महत्‍वपूर्ण है। राष्‍ट्रीय आई टी नीति जो कि उ प्र में प्रभावी है, के तहत आई टी सिटी बनाये जाने की योजना है। निश्‍चित रूप से कहा जा सकता है कि आई टी पार्क बनकर शुरू हो जाने के बाद आई टी सिटी का काम भी तेजी के साथ शुरू करवाये जाने की स्‍थतियां बन जायेंगी। 

    व्‍यापक संभावनाओं का दरबाजा है

    आई टी सैक्‍टर के जानकार एवं आगरा कॉलेज के इंजीनियरिंग संकाये के कम्‍प्‍यूटर सांइस विभाग के अध्‍यक्ष डा अनुराग शर्मा ने  कहा है कि आई टी सैक्‍टर का कार्यविस्‍तार तेजी के साथ बढना ही है, डिफैंस कॉरीडोर प्रोजेक्‍ट के तहत कई अवस्‍थापनाओं की मौजूदगी आगरा के आसपास होने ताजसिटी सभी निवेशकों और उनके प्रतिष्‍ठानों के प्रबंधन के लिये स्‍वभाविक आकर्षण साबित होगा।  

     आई टी प्रोफैशनल श्री अभिषेक अरुण गुप्ता का कहना है कि आगरा में आई टी प्रोजेक्‍ट के लिये भरपूर स्‍कोप है। एक्‍सपोर्ट,इम्‍पोर्ट,कॉल सेंटर, साफ्टवेयर ,पब्‍लिशिंग, आऊट सोर्सिंग सेंटर आद न जाने कितनी संभावनाये यहं पहले से ही विद्यमान हैं। उन्‍होंने कहा कि आगरा में बिजली की प्रदेश में सबसे बैहतरीन स्‍थति मानी जाती है। बिजली की आपूर्ति अंडरग्राऊंड डिस्‍ट्रीव्‍यशन सिस्‍टम  से होने के कारण फ्लैक्‍चुएशन न्‍यूनतम स्‍थति में है। 

    श्री अभिषेक ने कहा कि वह 2012 से इस प्रेजेक्‍ट के क्रियान्‍वयन के लिये अपने तरीके से सक्रिय रहे हैं ,खुशी है कि अब जमीनी तौर पर भी कुछ होा दिख रहा है। जिस दिन बिल्‍डिंग और परिसर एस टी पी आई को हस्‍तातरित कर दिया जायेगा उसी दिन से उनजैसे आई टी प्रोफेशनलों की भूमिका शुरू हो जायेगी।