Last Updated: 19 Oct 2019 03:12 PM

India Top Stories

Lokmat Samachar

bhaskar

  • सरफराज ने पीसीबी से कहा था- कप्तानी से इस्तीफा नहीं दूंगा, चाहो तो बर्खास्त कर दो

    कराची. पाकिस्तान क्रिकेट में एक बार फिर हाईवोल्टेज ड्रामा सामने आया है। तीर्नों फॉर्मेट में कप्तानी कर रहे सरफराज अहमद को हटा दिया गया। बाबर आजम को टी-20 और अजहर अली को टेस्ट की कप्तानी सौंपी गई। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सरफराज ने कप्तानी छोड़ने से इनकार कर दिया था। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) चाहे तो उन्हें बर्खास्त कर सकता है। इसके बाद ही उनसे कप्तानी छीन ली गई। सरफराज के हेड कोच और चीफ सिलेक्टर मिस्बाह उल हक से भी संबंध तनावपूर्ण बताए गए हैं।


    मामले की शुरुआत शुक्रवार को हुई। बोर्ड के सीईओ वसीम खान लंदन से कराची पहुंचे। यहां उन्होंने पहले पीसीबी चेयरमैन एहसान मनी से बातचीत की। इसके बाद वसीम ने सरफराज को बुलाया। सरफराज से कहा गया कि वो तीनों फॉर्मेट में कप्तानी से इस्तीफे का ऐलान करें। इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कप्तानी छोड़ने से इनकार कर दिया। न्यूज एजेंसी ने पीसीबी सूत्रों के हवाले से बताया- सरफराज ने वसीम से कहा कि वेखुद कप्तानी नहीं छोड़ेंगे। बोर्ड चाहे तो उन्हें बर्खास्त कर सकता है। वेदो साल से कप्तान हैं।

    टीम का वापसी का भरोसा दिलाया
    रिपोर्ट के मुताबिक, एहसान मनी ने सरफराज से कहा कि वो अगर फॉर्म हासिल कर लेते हैं तो उनकी टीम में वापसी हो सकती है। दूसरी तरफ, मिस्बाह चाहते हैं कि सरफराज विकेटकीपर और बल्लेबाज के तौर पर बिल्कुल फ्लॉप रहे हैं। उनकी जगह युवा विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान को मौका दिया जाना चाहिए। एहसान ने एक बयान में कहा- सरफराज को हटाने का फैसला आसान नहीं था,लेकिनपाकिस्तान क्रिकेट के भविष्य को देखते हुए ये जरूरी था।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    सरफराज अहमद (फाइल)।

  • रोहित-रहाणे ने 50+ रन की साझेदारी की; मयंक अग्रवाल, पुजारा और कोहली आउट

    खेल डेस्क.भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच रांची में खेला जा रहा है। टेस्ट के पहले दिन शनिवार को पहली पारी में रोहित शर्मा और अजिंक्यरहाणेक्रीज पर हैं।विराट कोहली 12 रन बनाकर एलबीडब्ल्यू हुए। उन्हें एनरिच नोर्त्जे ने आउट किया। इससे पहले कगिसो रबाडा ने चेतेश्वर पुजारा को शून्य पर एलबीडब्ल्यू किया। मयंक अग्रवाल 10 रन बनाकर रबाडा की गेंद पर डीन एल्गर के हाथों कैच आउट हुए।

    भारत ने सीरीज में लगातार तीसरी बार टॉस जीता। टीम इंडिया ने बल्लेबाजी का फैसला किया। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने अपनी जगह प्रॉक्सी कप्तान के तौर पर टेम्बा बवुमा से टॉस कराया, लेकिन फिर भी हारे। इस मैच से 30 साल के स्पिनर शहबाज नदीम ने डेब्यू किया। वे भारत के 296वें टेस्ट खिलाड़ी हैं। नदीम को कुलदीप यादव की जगह 15 सदस्यीय टीम में मैच से एक दिन पहले ही शामिल किया गया था।

    दक्षिण अफ्रीका ने टीम में पांच बदलाव किए

    इस मैच में दक्षिण अफ्रीका ने टीम में पांच बदलाव किए। थियुनिस डी ब्रुईन, एडेन मार्कराम, मुथुसामी, केशव महाराज और वर्नोन फिलैंडर को टीम से बाहर कर दिया। इनके स्थान पर जुबैर हम्जा, हेनरिच क्लासेन, जॉर्ज लिंडे, लुंगी एंगीडी और डेन पीट को टीम में शामिल किया।

    दोनों टीमें
    भारत: विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), मोहम्मद शमी, उमेश यादव और शहबाज नदीम।

    दक्षिण अफ्रीका: फाफ डुप्लेसिस (कप्तान), डीन एल्गर, क्विंटन डीकॉक, जुबैर हम्जा, टेम्बा बवुमा, हेनरिच क्लासेन (विकेटकीपर), जॉर्ज लिंडे, डेन पीट, कगिसो रबाडा, एनरिच नोर्त्जे और लुंगी एंगिडी।

    भारत 5वीं बार 3-0 से सीरीज जीतना चाहेगा

    मैच को जीतकर भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली बार 3-0 टेस्ट सीरीज जीतना चाहेगी। टीम इंडिया सीरीज में 2-0 से आगे है। भारत ने सीरीज के पहले तिरुवनंतपुरम टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका को 203 रन और दूसरे पुणे टेस्ट में पारी और 137 रन से हराया था।भारतीय टीम इस मैच को जीतकर क्रिकेट इतिहास में पांचवीं बार 3-0 टेस्ट सीरीज जीतना चाहेगी। भारत ने आखिरी बार जुलाई 2017 में श्रीलंका के खिलाफ 3-0 से टेस्ट सीरीज जीती थी। भारतीय टीम ने पहली बार इंग्लैंड को जनवरी 1993 में अपनी जमीन पर 3-0 से क्लीन स्वीप किया था।

    किसके खिलाफ कब कहां
    इंग्लैंड जनवरी 1993 भारत
    श्रीलंका जनवरी 1994 भारत
    न्यूजीलैंड सितंबर 2016 भारत
    श्रीलंका जुलाई 2017 श्रीलंका

    अश्विन के 67 टेस्ट में 356 विकेट
    इस मैच में रविचंद्रन अश्विन के पास पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इमरान खान और न्यूजीलैंड के पूर्व खिलाड़ी डेनियल विटोरी को विकेट के मामले में पीछे छोड़ने का मौका होगा। अश्विन ने अब तक 67 टेस्ट में 356 विकेट लिए हैं। इमरान के 88 मैच और विटोरी के 113 मैच में बराबर 362 विकेट हैं। मैच में 7वां विकेट लेते ही अश्विन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी नाथन लियोन की बराबरी भी कर लेंगे। हालांकि, लियोन अभी क्रिकेट खेल रहे हैं।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    मयंक अग्रवाल कगिसो रबाडा की गेंद पर डीन एल्गर के हाथों कैच आउट हुए।
    शहबाज नदीम। -फाइल फोटो
    भारतीय टीम। -फाइल
    रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे।

  • बीसीसीआई अध्यक्ष चुने जाने पर युवराज ने गांगुली को बधाई दी, ट्वीट में यो-यो टेस्ट को लेकर चुटकी ली

    खेल डेस्क. बीसीसीआई के अगले अध्यक्ष के रूप में पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली का नाम तय होने के बाद युवराज सिंह ने उन्हें बधाई देते हुए एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने गांगुली की तारीफ करते हुए यो-यो टेस्ट को लेकर चुटकी भी ली। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'शानदार आदमी का सबसे शानदार सफर... भारतीय कप्तान से बीसीसीआई अध्यक्ष बनना, मेरी नजर में एक क्रिकेटर का प्रशासक बनना बेहद फायदेमंद साबित होगा और दूसरे लोगों को खिलाड़ियों की नजर से प्रशासक को समझने का मौका मिलेगा। काश उस वक्त आप अध्यक्ष होते, जब यो-यो टेस्ट की जबरदस्त मांग थी। गुडलक दादी सौरव गांगुली।'

    युवराज की बधाई का जवाब देते हुए गांगुली ने लिखा, 'थैंक यू द बेस्ट...आपने भारत के लिए वर्ल्ड कप जीते हैं... अब खेल के लिए कुछ अच्छी चीजें करने का वक्त है... आप मेरे सुपरस्टार हो... आप पर भगवान का आशीर्वाद हमेशा बना रहे।'

    यो-यो टेस्ट को लेकर छलका था दर्द

    इस साल दिए एक इंटरव्यू में युवराज ने खुलासा करते हुए बताया था कि बीसीसीआई ने उनसे यो-यो टेस्ट में विफल रहने पर उन्हें विदाई मैच खिलाने का वादा किया था। हालांकि इस टेस्ट को पास करने के बाद भी उन्हें विदाई मैच खेलने का मौका नहीं दिया गया। लगभग 17 साल तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के बाद जून 2019 में युवराज ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया था। युवराज ने भारत की ओर से आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच जून 2017 में खेला था।

    गांगुली का अध्यक्ष बनना तय

    बीसीसीआई के विभिन्न पदों के लिए 23 अक्टूबर को चुनाव होंगे। इस दौरान अध्यक्ष पद के लिए सिर्फ सौरव गांगुली ने ही नामांकन दाखिल किया है, ऐसे में उनका निर्विरोध चुना जाना तय है। हालांकि वे सिर्फ 10 महीने तक ही इस पद पर रह सकेंगे। दरअसल लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के अनुसार कोई व्यक्ति राज्य या बीसीसीआई में लगातार छह साल से अधिक समय तक नहीं रह सकता। गांगुली साल 2014 से ही बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन (कैब) के अध्यक्ष पद पर काबिज हैं और ऐसे में वे जुलाई 2020 तक ही इस पद पर रह सकेंगे। इसके बाद उन्हें तीन साल के कूलिंग पीरियड पर जाना होगा। यानी वे तीन साल तक राज्य या बीसीसीआई में किसी पद पर नहीं रह सकते।

    ##

    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    युवराज सिंह और सौरव गांगुली (फाइल फोटो)।

  • पीसीबी ने सरफराज से जुड़े असंवेदनशील ट्वीट पर माफी मांगी, कहा- पोस्ट गलत समय पर हुआ

    खेल डेस्क. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने शुक्रवार को सरफराज अहमद से टेस्ट और टी-20 टीम की कप्तानी छीन ली। उन्हें टीम से भी बाहर कर दिया गया। उनके बाहर होने की घोषणा के दौरान ही पीसीबी ने एक वीडियो ट्वीट किया, जिसमें पाकिस्तानी खिलाड़ी जश्न मनाते नजर आ रहे हैं। ये वीडियो टी-20 वर्ल्ड कप से एक साल पहले टूर्नामेंट के प्रचार के लिए डाला गया था। इसमें पीसीबी ने टी-20 वर्ल्ड कप को भी टैग किया था।

    पाकिस्तान के एक पत्रकार ने पीसीबी के वीडियो को शेयर किया। उन्होंने लिखा, ‘सरफराज के टीम से बाहर होने के बाद का पल, शानदार।’ पीसीबी ने इसके तुरंत बाद ही ट्वीट को हटा दिया। उसने क्रिकेट फैंस से माफी मांगते हुए कहा, ‘पीसीबी उस पोस्ट के लिए माफी मांगता है। हम स्वीकार करते हैं कि वह समय गलत था। पोस्ट टी-20 वर्ल्ड कप से ठीक से एक साल पहले प्रचार के लिए तय था। पोस्ट का समय कप्तानी की घोषणा के समय से टकरा गया, इसके लिए हम माफी मांगते हैं।’

    सरफराज ने कहा- टीम को मेरी शुभकामनाएं
    टी-20 वर्ल्ड कप अगले साल ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से खेला जाएगा। सरफराज की जगह बाबर आजम को टी-20 और अजहर अली को टेस्ट टीम की कमान सौंपी गई। वनडे टीम के लिए कोई घोषणा नहीं हुई। सरफराज ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा, ‘मेरे लिए इतने बड़े स्तर पर टीम की कप्तानी करना गर्व का विषय रहा। मैं अपने सभी साथियों, कोचों और सिलेक्टर्स का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। अजहर अली और बाबर आजम के साथ पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को मेरी शुभकामनाएं। उम्मीद करता हूं कि वे मजबूत होंगे।’

    अजहर अली ने सरफराज की तारीफ की
    वहीं अजहर अली ने कहा, “मेरे लिए पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम का नेतृत्व करने से बड़ी बात और कुछ नहीं हो सकती। मैं इस मौके के लिए शुक्रगुजार और रोमांचित हूं। टीम के समर्थन से मैं आने वाले समय में वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के लिए अपने ऊपर किए गए भरोसे को साबित करने की कोशिश करुंगा। उन्होंने सरफराज की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने प्रतिभाशाली और अनुभवहीन खिलाड़ियों को अनुभवी बनाने में काफी काम किया है। मेरी कोशिश उन खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा बनने की होगी।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    पीसीबी की माफी (ऊपर)।

  • गांगुली को खिलाड़ियों की हर जरूरत पता, उनका बीसीसीआई अध्यक्ष बनना फायदेमंद: साहा

    खेल डेस्क. विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने पर शुक्रवार को खुशी व्यक्त की। साहा ने इसे खिलाड़ियों के लिए फायदेमंद बताते हुए कहा कि उन्हें (गांगुली) खिलाड़ियों की जरूरतों के बारे में पता है। साहा गांगुली के नेतृत्व वाली बंगाल टीम का हिस्सा रह चुके हैं।

    साहा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘दादा (गांगुली) बीसीसीआई के अध्यक्ष बन रहे हैं, तो इससे खिलाड़ियों को मदद मिलेगी।’’ उन्होंने कहा कि गांगुली भारतीय क्रिकेट में कई सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं। एक खिलाड़ी के तौर पर और खासकर टीम को इसका फायदा होगा।

    24 अक्टूबर को ऋद्धिमान का 35वां जन्मदिन
    उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी मौजूदा टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है। साहा ने पुणे टेस्ट में कुछ कमाल के कैच लपके। ऋद्धिमान 24 अक्टूबर को अपना 35वां जन्मदिन मनाएंगे। ऋषभ पंत से प्रतिस्पर्धा के सवाल पर साहा ने कहा कि इससे दोनों विकेटकीपरों के बीच रिश्ते प्रभावित नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा कि हम हमेशा एक-दूसरे की गलतियों को बताने की कोशिश करते हैं। यह अब तक अच्छा चल रहा है।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा। -फाइल फोटो

Amar ujala

NavBharat Times

Nai Dunia

Deshbandhu

Dabang Dunia

Jansatta

livehindustan

indiatvnews

abpnews

khaskhabar

dailynews360

  • नए कोच के साथ खराब शुरुआत से उबरना चाहेगा नॉर्थईस्ट युनाइटेड, ये बॉलीवुड एक्टर है टीम का मालिक


    नॉर्थईस्ट युनाइटेड एफसी को हीरो इंडियन सुपर लीग के छठे सीजन के पहले मैच में कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि इस टीम का सामना बेंगलुरू में सोमवार को मौजूदा चैम्पियन बेंगलुरू एफसी के साथ होना है। बेंगलुरू एफसी ने ही प्लेऑफ में नॉर्थईस्ट युनाइटेड एफसी को हराया था। यह हार ऐसे वक्त में मिली थी, जब इस टीम को लगने लगा था कि वह शानदार खेल रही है और उसे हर हाल में आगे जाना ही चाहिए। कोच रोबर्ट जार्नी हालांकि इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि उनकी टीम श्रीकांतिरावा स्टेडियम में बेंगलुरू को हराकर अच्छी शुरुआत करने में सफल होगी। रियल मेड्रिड के पूर्व विंगर ने कहा, बेंगलुरू ने इस सीजन में कुछ बदलाव किए हैं। साथ ही उसका कोच भी नया है और कुछ खिलाड़ी भी नए हैं। यह अलग मैच होगा। हम मानते हैं कि हम इस टीम के खिलाफ कुछ अच्छा कर सकते हैं। हम तीन अंक लेने को लेकर आश्वस्त हैं।क्रोएशिया के लिए खेल चुके जार्नी ने एल्को स्काटोरी के स्थान पर नॉर्थईस्ट युनाइटेड एफसी का कोच पद सम्भाला है। वह मानते हैं कि ऐसे में जब सुनील छेत्री, गुरप्रीत ङ्क्षसह संधू, उदांता ङ्क्षसह, आशिक कुरूनियन और राहुल भेके जैसे स्टार खिलाड़ी इन दिनों टीम से दूर हैं और भारतीय टीम को अपनी सेवाएं दे रहे हैं तो फिर उनकी टीम के पास चाल्र्स कुआडार्ट की टीम को हारने का मौका है। जार्नी ने कहा, हां, यह हमारे लिए एडवांटेज है। एक कोच के नाते आप चाहते हो कि पूरी टीम आपके साथ हो लेकिन इंटरनेशनल ब्रेक के कारण अभी कुआडार्ट ऐसा नहीं कर पा रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद उनके पास कुछ अच्छे खिलाड़ी हैं जो इस कोच को जानते हैं और बीते सीजन में उनके साथ खेले हैं। इससे हमें फायदा मिल सकता है लेकिन इससे कोई बड़ा अंतर पैदा नहीं होगा।50 साल के जार्नी ने कहा कि उनकी टीम में कुछ नए खिलाड़ी हैं, जिनमें हाई प्रोफाइल असामोह ग्यान भी शामिल हैं। इन खिलाडिय़ों को उनकी फिलॉसाफी को समझने में वक्त लगेगा। जार्नी ने कहा, हमारी टीम युवा है और मैं अभी भी अपनी फिलोसॉफी को उन तक पहुंचाने का काम कर रहा हूं। यह मेरा पहला सीजन है और कुछ खिलाड़ी भी नए हैं। ऐसे में हमे कुछ और समय चाहिए होगा।जार्नी के लिए अच्छी बात यह है कि उनकी टीम अभी पूरी तरह फिट है और किसी के चोटिल होने की खबर नहीं है। वह हालांकि बेंगलुरू के खिलाफ चमक बिखेरने के लिए कुछ रोमांचक खिलाडिय़ों पर भरोसा जता रहे हैं। बकौल जार्नी, हमारे पास कुछ ऐसे रोचक खिलाड़ी हैं, जो युवा हैं लेकिन मैं व्यक्तियों के बारे में बात नहीं करुंगा। हम पूरी तरह तैयार हैं। यह पहला मैच है और इस कारण आपको यह पता नहीं होता कि विपक्षी टीम ने कितना सुधार या विकास किया है। हम जीत के लिए तैयार हैं और अब देखेंगे कि मैच के दिन क्या होता है। बता दें कि इस टीम ज्यादातर खिलाड़ी पूर्वोत्तर राज्य असम, नागालैंड, मणिपुर, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा और मिजोरम के हैं। इसके मालिक बॉलीवुड एक्टर जॉन अब्राहम हैं। इस टीम को हाइलैंडर के नाम से भी जाना जाता है। इसका गठन 13 अप्रैल 2014 को हुआ था।

  • अरुणाचल के मारकिओ ने किया धमाका, Gold पर जमाया कब्जा


    युवा एवं जूनियर नेशनल वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप के चौथे दिन प्रथम सत्र में पुरुष (युवा) 67 किलोग्राम वर्ग में अरुणाचल प्रदेश के मारकिओ तारिओ स्नैच में 120 किलो तथा क्लीन एंड जर्क में 152 किलो वजन उठाकर कुल 272 किलो के साथ प्रथम स्थान पर रहे।वहीं आंध्रप्रदेश के के नीलम राजू ने स्नैच में 115 किलो तथा क्लीन एंड जर्क में 151 किलो वजन उठाकर कुल 266 किलो के साथ दूसरा और महाराष्ट्र के तेजस जोंधले ने स्नैच में 114 किलो तथा क्लीन एंड जर्क में 137 किलो वजन उठाकर कुल 251 किलो के साथ तीसरा स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिता के बाद विजयी प्रतिभागियों को प्रतीक चिन्ह व मेडल पहनाकर सम्मानित भी किया गया। अतिथि के रूप में मौजूद अक्षर संसार फाउंडेशन के अध्यक्ष कुंदन कुमार एवं अंग्रेजी विभाग मगध विवि की डॉ निशात अंजुम ने प्रतिभागियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में बिहार भारोत्तोलन के प्रथम कोच जसवीर सिंह कटारिया एवं कुंदन कुमार को बिहार वेटलिफ्टिंग एसोसिएशन के प्रेसिडेंट अरुण कुमार केशरी ने प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। राष्ट्रीय स्तर के भारोत्तोलन चैम्पियनशिप को देखने स्कूली छात्रों को कालचक्र मैदान पर नहीं लाया जा रहा है। आयोजन समिति ने कहा कि खेल परिसर में प्रवेश पर कोई शुल्क नहीं है। छात्रों को लाने से खेल के प्रति उनकी रूचि जगेगी।चैम्पियनशिप के दौरान उपलब्ध कराए गए भोजन की प्रतिभागियों ने प्रशंसा की है। खिलाड़ियों के लिए नॉन-वेज व वेज दोनों तरह के भोजन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। चीकेन, मटन, फीश व अंडा करी के अलावे पनीर के डिशेज उपलब्ध कराए गए हैं। इतना ही नहीं नार्थ इंडियान, साउथ इंडियन व कॉन्टिनेंटल के अलावा चाइनीज फूड भी उपलब्ध है।

  • निखत मामले से खेल मंत्री किरण रिजिजू ने बड़ी चालाकी से पल्ला झाड़ा


    खेल मंत्री किरण रिजिजू ने शुक्रवार को महिला मुक्केबाज निखत जरीन के पत्र का जवाब देते हुए कहा कि एक मंत्री को खिलाडिय़ों के चयन में शामिल नहीं होना चाहिए। जरीन ने अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलम्पिक खेलों के लिए चयन को लेकर रिजिजू को पत्र लिखा था।पत्र का जवाब देते हुए रिजिजू ने ट्वीट किया, मैं निश्चित रूप से मुक्केबाजी महासंघ को इस मामले से अवगत कराऊंगा ताकी वह देश के हितों को ध्यान में रखते हुए सही निर्णय ले पाए। रिजिजू ने कहा, हालांकि, एक मंत्री को खेल महासंघों द्वारा खिलाडिय़ों को चुने जाने की प्रक्रिया में शामिल नहीं होना चाहिए। ओलम्पिक चार्टर के अनुसार वे स्वायत्त हैं।छह बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरी कॉम ने हाल में हुए विश्व चैम्पियनशिप में 51 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक जीता। इसके बाद, बीएफआई ने निर्णय लिया कि इस टूर्नामेंट में पदक जीतने वाले सभी खिलाडिय़ों को वुहान में 3 से 14 फरवरी तक चलने वाले टोक्यो ओलम्पिक क्वालीफायर में जगह मिलेगी।बीएफआई के इस निर्णय ने निखत के ओलम्पिक जाने के सारे रास्ते बंद कर दिए। वह 51 किलोग्राम भारवर्ग में ही मुकाबला करती हैं। निखत ने बुधवार को कहा था कि उन्होंने बीएफआई अध्यक्ष अजय सिंह से कई बार संपर्क करने की कोशिश की और अब वह खेल मंत्री से बात करेंगी। उन्होंने यहीं किया और ट्विटर पर पत्र को पोस्ट भी किया।निखत ने लिखा, मैं सिर्फ एक सही मौका चाहती हूं। मैं जिस चीज के लिए अभ्यास कर रही हूं उसके लिए मुझे मौका नहीं मिला तो क्या मतलब। खेल का मतलब सभी के साथ ईमानदारी से पेश आना है। मैं अपने देश पर भरोसा नहीं खोना चाहती। जय हिंद।उन्होंने पत्र मे अमेरिका के महान तैराक माइकल फेल्प्स का जिक्र किया है जिन्हें ओलम्पिक खेलने के लिए हर बार ट्रायल्स से गुजरना पड़ता था। साथ ही निखत ने यह भी लिखा है कि मैरी कॉम उनके लिए आदर्श हैं।निखत ने लिखा, मैं जब छोटी थी तब मैं मैरी कॉम से प्रभावित हुई थी। इस प्रेरणा के साथ न्याय करने का एक ही तरीका था कि मैं उन जैसी मुक्केबाज बनूं। और मैरी कॉम खेल में प्रतिस्पर्धा से छुपने के लिए और अपना ओलम्पिक क्वालीफिकेशन बचाने के लिहाज से बहुत बड़ा नाम हैं।उन्होंने लिखा, 23 बार के स्वर्ण पदक विजेता माइकल फेल्प्स को भी ओलम्पिक के लिए हर बार क्वालीफाई करना पड़ा था, हम सभी को भी यही करना चाहिए। निखत को इस मामले में ओलम्पिक स्वर्ण विजेता अभिनव बिंद्रा का भी समर्थन प्राप्त है।

  • विजय हजारे ट्रॉफी: दिल्ली का क्वार्टरफाइनल में गुजरात से मुकाबला, नॉर्थ ईस्ट की सभी टीमें बाहर


    आलराउंडर पवन नेगी की 32 रन पर चार विकेट की शानदार गेंदबाजी से दिल्ली ने हिमाचल प्रदेश को गुरूवार को तीन विकेट से हराकर विजय हजारे ट्रॉफी के ए और बी ग्रुप से क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उसका मुकाबला गुजरात से होगा। दिल्ली ने हिमाचल को 41.2 ओवर में 176 रन पर निपटाने के बाद 42.5 ओवर में सात विकेट पर 177 रन बनाकर क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली। दिल्ली की यह पांचवीं जीत रही। इस ग्रुप से शीर्ष पांच टीमों को क्वार्टरफाइनल में जगह मिलनी थी। ग्रुप ए और बी से कर्नाटक, पंजाब, दिल्ली, छत्तीसगढ़ और मुंबई ने क्वार्टरफाइनल में जगह बनायी जबकि ग्रुप सी से तमिलनाडु और गुजरात ने तथा प्लेट ग्रुप से पुड्डुचेरी ने क्वार्टरफाइनल में स्थान बनाया। पहले क्वार्टरफाइनल में 20 अक्टूबर को कर्नाटक का मुकाबला पुड्डुचेरी से एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में होगा जबकि इसी दिन दूसरे क्वार्टरफाइनल में दिल्ली और गुजरात की टीमें बेंगलुरु की जस्ट क्रिकेट अकादमी ग्राउंड में आमने-सामने होंगी। 21 अक्टूबर को तीसरे क्वार्टरफाइनल में पंजाब और तमिलनाडु का मुकाबला अलुर मैदान में होगा और इसी दिन चौथे क्वार्टरफाइनल में छत्तीसगढ़ और मुंबई एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में भिड़ेंगे। सेमीफाइनल 23 अक्टूबर को और फाइनल 25 अक्टूबर को बेंगलुरु में ही खेले जाएंगे।दिल्ली-हिमाचल मुकाबले में हिमाचल की पारी में ऋषि धवन ने सर्वाधिक 41 रन, अमित कुमार ने 39 रन, सुमीत वर्मा ने 25 रन और निखिल गंगटा ने 17 रन बनाये। पवन नेगी ने 32 रन पर चार विकेट लिए जबकि नवदीप सैनी, सिमरजीत ङ्क्षसह, कुंवर बिधूड़ी, ललित यादव, मनन शर्मा और नीतीश राणा को एक-एक विकेट मिला।दिल्ली के लिए ओपनर शिखर धवन ने 54 गेंदों में चार चौकों की मदद से सर्वाधिक 31 रन बनाये। कप्तान ध्रुव शौरी ने 25 रिटायर्ड आउट, नीतीश राणा ने 29 और मनन शर्मा ने नाबाद 28 रन बनाये। हिमाचल की तरफ से मयंक डागर ने 48 रन पर दो विकेट लिए। हजारे ट्राफी के अंतिम ग्रुप मैचों में नागालैंड ने देहरादून में प्लेट ग्रुप में मणिपुर को पांच रन से, असम ने शिमोगा में पुड्डुचेरी को पांच विकेट से और उत्तराखंड ने देहरादून में चंडीगढ़ को दो विकेट से हराया। ग्रुप ए और बी में महाराष्ट्र ने वायानाड में विदर्भ को 33 रन से और हरियाणा ने वडोदरा में उत्तर प्रदेश को 20 रन से हराया। ग्रुप ए और बी से कर्नाटक (28), पंजाब (22), दिल्ली (22), छत्तीसगढ़ (22) और मुंबई (20), ग्रुप सी से तमिलनाडु (36) और गुजरात (32) तथा प्लेट ग्रुप से पुड्डुचेरी (32) ने क्वार्टरफाइनल में जगह बनायी।

  • देश की सबसे खतरनाक बॉक्सर को इस लड़की ने दिया चैलेंज, मोदी के मंत्री से कही ऐसी बात


    भारतीय मुक्केबाज निखत जरीन (51 किग्रा) ने टोक्यो ओलंपिक क्वालीफायर्स में प्रवेश के लिए एमसी मैरीकॉम के साथ ट्रायल बाउट नहीं कराने के भारतीय मुक्केबाजी संघ के फैसले के खिलाफ ङ्क्षचता जाहिर करते हुए केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू को पत्र लिखा है। खेल मंत्री को पत्र लिख उन्होंने अगले वर्ष ओलंपिक क्वालीफायर्स के लिए भारतीय दल का चयन करने से पहले मैरीकॉम के खिलाफ ट्रायल बाउट लडऩे की मांग की। जरीन ने लिखा, सर निष्पक्ष रहना खेल का प्राथमिक नियम है और सभी खिलाडिय़ों के लिए जरुरी है कि वह हर बार खुद की योग्यता साबित करें। यहां तक की ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता को भी देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए दोबारा बाउट लडऩी होती है।मैरीकॉम ने हाल ही में रुस में हुई विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक हासिल कर अपने करियर का रिकॉर्ड आठवां पदक हासिल किया था। टूर्नामेंट से पहले ही भारतीय मुक्केबाजी संघ (बीएफआई) ने जरीन के साथ ट्रायल कराने से मना करने के बाद मैरीकॉम का चयन कर लिया था। उस वक्त बीएफआई ने मैरीकॉम के प्रदर्शन को देखते हुए बिना ट्रायल के उनका चयन करने का फैसला लिया था। विश्व चैंपियनशिप में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद बीएफआई अब ओलंपिक क्वालीफायर्स के लिए मैरीकॉम को भेजने पर विचार कर रहा है। इससे पहले संघ ने फैसला किया था कि वे स्वर्ण और रजत पदक जीतने वाले खिलाड़ी का ही ओलंपिक क्वालीफायर्स के लिए सीधे चयन करेंगे। उल्लेखनीय है कि ओलंपिक क्वालीफायर्स अगले वर्ष फरवरी में चीन में होना है। 51 किग्रा वर्ग में मैरीकॉम के खिलाफ दो बार ट्रायल रद्द करने पर जरीन ने कहा, मैं युवा अवस्था से ही मैरीकॉम से प्रभावित हूं और मैं इस प्रेरणा के साथ तभी न्याय कर सकती हूं जब मैं उनके जैसी बड़ी मुक्केबाज बनूं। इसके लिए जरुरी है कि मुझे उनके साथ लडऩे का मौका मिले ताकि मैं खुद को साबित कर सकूं। इस बीच मैरीकॉम ने कहा कि वह चयन के लिए बीएफआई के दिशा निर्देश का पालन करेंगी और संघ जिससे बाउट करने कहेगा उसके साथ मैच खेलेंगी।

samacharjagat

dainiksaveratimes