Last Updated: 18 Sep 2020 03:55 PM

India Top Stories

Lokmat Samachar

bhaskar

  • आरसीबी के पूर्व कोच रे जेनिंग्स ने कहा- कोहली मेरी बात नहीं सुनते थे, गलत खिलाड़ियों को सपोर्ट करने के कारण टीम एक बार भी खिताब नहीं जीती

    रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के पूर्व कोच रे जेनिंग्स ने टीम के कप्तान विराट कोहली पर आरोप लगाया है कि वे उनकी बात नहीं सुनते थे और गलत खिलाड़ियों को सपोर्ट करते थे। इसी कारण से टीम एक बार भी आईपीएल की चैम्पियन नहीं बनी। जबकि उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने टेस्ट क्रिकेट में 60 फीसदी मैच जीते। जेनिंग्स ने एक क्रिकेट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में यह बातें कहीं।

    जेनिंग्स 2009 से 2014 तक आरसीबी के कोच रहे थे। उनकी कोचिंग में ही टीम दो बार 2009 और 2011 में फाइनल खेली। लेकिन दोनों मौकों पर खिताब नहीं जीत पाई। विराट को 2013 में ही टीम का फुलटाइम कप्तान बनाया गया था।

    विराट की टीम को लेकर सोच अलग थी: जेनिंग्स

    जेनिंग्स ने कहा कि जब मैं टीम का कोच था। उस समय टीम में 20-25 खिलाड़ी होते थे। बतौर कोच मेरी जिम्मेदारी थी कि मैं सबका ध्यान रखूं। लेकिन विराट का अपना अलग प्लान होता था। वो कई बार टीम में अकेले दिखते थे, क्योंकि वो गलत खिलाड़ियों को सपोर्ट करते थे। मैं चाहता था कुछ गेंदबाज किसी खास हालात में गेंदबाजी करें, लेकिन ऐसा नहीं होता था।

    आईपीएल और इंटरनेशनल क्रिकेट में बहुत फर्क

    आरसीबी के पूर्व कोच ने आगे कहा कि आईपीएल इंटरनेशनल क्रिकेट से बहुत अलग है। 6 हफ्ते में कुछ खिलाड़ी फॉर्म में आ सकते हैं, जबकि कुछ खिलाड़ियों का फॉर्म खराब हो सकता है। ऐसे में किसी ऐसे प्लेयर को टीम में रहना पड़ेगा, जो लगातार अच्छा खेले।

    जब मैं टीम का कोच था तो उन दिनों कुछ और खिलाड़ियों को ज्यादा मौके मिलने चाहिए थे। लेकिन कोहली की सोच कुछ और थी। हालांकि, अब इन बातों का कोई मतलब नहीं हैं। ये देखकर अच्छा लग रहा है कि एक कप्तान के तौर पर अब विराट काफी समझदार हो गए हैं और अब वो आईपीएल भी जीतने लगेंगे।

    'विराट के पास शानदार क्रिकेटिंग ब्रेन'

    जेनिंग्स ने आरसीबी के कप्तान विराट की तारीफ करते हुए कहा कि उनके पास शानदार क्रिकेटिंग ब्रेन है। उन्होंने कहा कि विराट की टीम सेमीफाइनल (प्ले ऑफ) और फाइनल तक पहुंची है। उम्मीद है कि इस आईपीएल में उनकी टीम को और ज्यादा कामयाबी मिले। बतौर कप्तान विराट ने टीम के लिए 110 में से 49 मैच जीते हैं।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    विराट कोहली और रे जेनिंग्स ने 200े8 से 2013 तक रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु में साथ काम किया था। तब टीम दो मौकों पर फाइनल खेली थी।

  • कोहली पहले और रोहित दूसरे स्थान पर बरकरार, बेयरस्टो टॉप-10 बल्लेबाजों में शामिल; बुमराह शीर्ष 10 गेंदबाजों में इकलौते भारतीय

    भारतीय कप्तान विराट कोहली आईसीसी वनडे रैंकिंग में पहले और रोहित शर्मा दूसरे नंबर पर बरकरार हैं। कोहली के 871 और रोहित के 855 रेटिंग पॉइंट्स हैं। टॉप-10 बल्लेबाजों में सिर्फ यही दो भारतीय शामिल हैं। इंग्लैंड के बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ऑस्ट्रेलिय़ा के खिलाफ तीसरे वनडे में शतक लगाने के कारण दसवें स्थान पर आ गए। उन्हें तीन स्थान का फायदा हुआ।

    वनडे के टॉप-10 गेंदबाजों की बात करें, तो न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट पहले स्थान पर हैं। उनके खाते में 722 रेटिंग पॉइंट्स हैं। भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह दूसरे स्थान पर हैं। उनके 719 रेटिंग पॉइंट्स हैं। टॉप-10 में बुमराह के अलावा कोई और भारतीय शामिल नहीं है।

    मैक्सवेल और कैरी की रैंकिंग भी सुधरी

    बेयरस्टो ने तीन वनडे की सीरीज में 196 रन बनाए। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में 112 गेंद पर 126 रन बनाए थे। इससे पहले, उन्होंने 2018 में करियर की बेस्ट 9वीं रैंकिंग हासिल की थी। वे करियर बेस्ट 777 रेटिंग पॉइंट्स से सिर्फ 23 अंक पीछे हैं। ग्लेन मैक्सवेल और एलेक्स कैरी को भी तीसरे वनडे में शतक लगाने का फायदा मिला है।

    उनकी रैंकिंग में भी सुधार हुआ है। मैक्सवेल पांच स्थान की छलांग लगाकर 26वें पायदान पर आ गए। आयरलैंड के पॉल स्टर्लिंग भी 26वें स्थान पर ही हैं। कैरी ने करियर की बेस्ट 28वीं रैंकिंग हासिल की।

    ऑलराउंडर्स की रैंकिंग में वोक्स दूसरे स्थान पर पहुंचे
    इंग्लैंड के क्रिस वोक्स ऑलराउंडर्स की वनडे रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंच गए। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में 89 रन बनाने के साथ ही 6 विकेट भी हासिल किए थे। अफगानिस्तान के मोहम्मद नबी 301 अंकों के साथ पहले पायदान पर हैं।

    वनडे सुपर लीग में इंग्लैंड पहले स्थान पर

    आईसीसी वनडे चैम्पियनशिप सुपर लीग में इंग्लैंड 123 अंकों के साथ पहले स्थान पर है। इंग्लैंड इकलौती टीम है, जिसने दो महीने के भीतर दो घरेलू सीरीज खेली है। एक में उसने आयरलैंड को 2-1 से हराया, जबकि दूसरी में ऑस्ट्रेलिया से हारी है। भारत 119 अंकों के साथ दूसरे और न्यूजीलैंड 116 पॉइंट्स के साथ तीसरे पायदान पर है।

    सुपर लीग की टॉप-7 टीमें और मेजबान भारत को 2023 के वर्ल्ड कप में सीधे एंट्री मिलेगी।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    रोहित शर्मा(बाएं) और विराट कोहली। टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने पिछला वनडे इसी साल 11 फरवरी को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। वे 9 रन बनाकर आउट हो गए थे।

  • आरसीबी के बल्लेबाज डीविलियर्स ने कहा- टीम को खिताब जिताने के लिए बल्लेबाजी के साथ बॉलिंग करने को भी तैयार; बेंगलुरु किसी भी टीम को हराने में सक्षम

    रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने कहा कि टीम को आईपीएल का खिताब जिताने के लिए वो बल्लेबाजी के साथ गेंदबाजी करने को भी तैयार हैं। उन्होंने टीम के कप्तान विराट कोहली को भी बता दिया है कि जरूरत पड़ने पर वे टीम के लिए गेंदबाजी करने को भी तैयार हैं।

    डीविलियर्स ने कहा कि इस सीजन में हमारे पास दुनिया के बेहतरीन खिलाड़ी हैं। ऐसे में हम किसी भी टीम को हराने की ताकत रखते हैं। हमारे पास एरॉन फिंच, मोइन अली, एडम जांपा, जोशुआ फिलिप जैसे खिलाड़ी हैं।

    मुझे गेंदबाजी करने में मजा आता है: डीविलियर्स

    डीविलियर्स ने कहा कि मैं हमेशा विराट के साथ मजाक करता हूं। मैंने उनसे दो दिन पहले कहा था कि अगर टीम के हित में मेरे से गेंदबाजी कराना चाहते हो तो, मैं इसके लिए उपलब्ध हूं। देखो, मैं कभी अच्छा गेंदबाज नहीं रहा, लेकिन मुझे गेंदबाजी करने में मजा आता है। मैं पूरी क्षमता के साथ गेंदबाजी करने के लिए तैयार हूं।

    डीविलियर्स इंटरनेशनल क्रिकेट में विकेट ले चुके हैं

    डीविलियर्स दाएं हाथ के मीडियम पेस गेंदबाज हैं। उन्होंने टेस्ट में 2 और वनडे में 7 विकेट लिए हैं। हाल ही में टीम के कप्तान कोहली ने कहा था कि आरसीबी के पास 2016 के बाद सबसे संतुलित टीम है। ऐसे में डीविलियर्स से गेंदबाजी कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

    'फिलिप काफी हद तक मेरी तरह खेलते हैं'

    आरसीबी के इस बल्लेबाज ने ऑस्ट्रेलिया के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज जोशुआ फिलिप की तारीफ करते हुए कहा कि इस समर सीजन में फिलिप ने बेहतर प्रदर्शन किया है। फिलिप को खेलता देखकर बचपन की यादें ताजा हो गईं। जब मैं छोटा था, तो फिलिप की तरह खेलता था। फिलिप और मेरे में बहुत समानता है।

    फिलिप को बेंगलुरु ने बेस प्राइज 20 लाख रुपए पर खरीदा था

    फिलिप को आरसीबी ने 20 लाख रुपए की बेस प्राइस में ही खरीदा था। फिलिप ने अब तक 32 टी-20 खेले हैं और 33 से अधिक की औसत से 798 रन बनाए हैं। इसमें 7 हाफ सेंचुरी शामिल है। वहीं, पिछले सीजन में फिलिप ने बिग बैश लीग में तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। उन्होंने 16 मैचों में 487 रन बनाए थे।

    तीर बार फाइनल पहुंचने के बाद भी आरसीबी आज तक खिताब नहीं जीती

    कोहली की अगुआई वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) इस सीजन में 21 सितंबर को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ पहला मैच खेलेगी। आरसीबी आईपीएल के 12 सीजन में से तीन बार ( 2009, 2011 और 2016) फाइनल खेली है। इस दौरान 6 खिलाड़ियों ने टीम की कमान संभाली, लेकिन कोई भी उसे चैम्पियन नहीं बना पाया।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    एबी डीविलियर्स ने पिछले सीजन में आरसीबी के लिए 13 मैच में 44.20 की औसत से 442 रन बनाए थे।

  • सबसे ज्यादा रन बनाने वाले विराट ने RCB को 49 मैच जिताए, उनकी कप्तानी में टीम एक बार फाइनल खेली, लेकिन खिताब नहीं जीत सकी

    विराट कोहली आईपीएल में सबसे ज्यादा 5412 रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं, लेकिन उनकी टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) आज तक खिताब नहीं जीत पाई है। आरसीबी आईपीएल के 12 सीजन में से तीन बार ( 2009, 2011 और 2016) फाइनल खेल चुकी है। इस बार कोहली के पास इस रिकॉर्ड को सुधारने का मौका है, लेकिन चुनौती बड़ी है। पिछले सीजन में विराट की कप्तानी में आरसीबी आठवें नंबर पर रही थी। तब उन्होंने 14 मैच में 464 रन बनाए थे। इसमें एक शतक भी शामिल है।

    4 साल पहले फाइनल खेली थी आरसीबी

    कोहली 2013 से आरसीबी के फुलटाइम कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में टीम 7 सीजन खेल चुकी है। कप्तानी करते हुए उन्होंने टीम को 110 में से 49 मैच जिताए, लेकिन खिताब नहीं दिला सके। 2016 को छोड़ दें, तो आरसीबी किसी भी मौके पर फाइनल में नहीं पहुंची। 4 साल पहले उसे फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद ने 8 रन से हराया था। उस सीजन में कोहली ने 16 मैच में 152 की स्ट्राइक रेट से 973 रन बनाए थे।

    कोहली की कप्तानी में 2018 में टीम छठे स्थान पर रही थी। तब उन्होंने 14 मैच में 530 रन बनाए थे। 2017 में कोहली ने 10 मैच में 308 रन बनाए और टीम आठवें स्थान पर लुढ़क गई। 2015 में उन्होंने एक बार फिर 500 से ज्यादा रन बनाए। लेकिन टीम के हाथ फिर नाकामी आई और आरसीबी क्वालिफायर ही खेली। 2014 में विराट ने 359 रन बनाए, तो टीम सातवें स्थान पर रही। 2013 में कोहली के 16 मैच में 634 रन के बावजूद टीम 5वें स्थान पर रही।

    धोनी आईपीएल के सबसे कामयाब कप्तान

    आईपीएल में कप्तानी के मामले में कोहली महेंद्र सिंह धोनी, रोहित शर्मा, डेविड वॉर्नर, श्रेयस अय्यर, दिनेश कार्तिक से पीछे हैं। धोनी आईपीएल के सबसे कामयाब कप्तान हैं। उन्होंने बतौर कप्तान लीग में सबसे ज्यादा 174 मैच खेले हैं। वे इकलौते खिलाड़ी हैं, जिसका 30 या उससे ज्यादा मैच में बतौर कप्तान जीत का औसत 60 फीसदी से ज्यादा है। 50 से ज्यादा मैच में कप्तानी करने वाले खिलाड़ियों में भी कोहली का विनिंग परसेंटेज सबसे कम है। कोहली ने 44.5 फीसदी मैच जीते हैं।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के प्रैक्टिस सेशन के दौरान कप्तान विराट कोहली साथी खिलाड़ियों के साथ फुटबॉल खेलते हुए। इस सीजन में आरसीबी का पहला मैच 21 सितंबर को सनराइजर्स हैदराबाद से होगा।

  • 12 सीजन में 6 खिलाड़ियों ने बेंगलुरु की कप्तानी की, लेकिन कोई भी चैम्पियन नहीं बना पाया; वॉटसन सबसे कम 3 मैच में कप्तान रहे

    विराट कोहली की अगुआई वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) इस सीजन में 21 सितंबर को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ पहला मैच खेलेगी। आरसीबी आईपीएल के 12 सीजन में से तीन बार ( 2009, 2011 और 2016) फाइनल खेली है। इस दौरान 6 खिलाड़ियों ने टीम की कमान संभाली, लेकिन कोई भी उसे चैम्पियन नहीं बना पाया।

    विराट आरसीबी के सबसे सफल कप्तान हैं। उन्होंने 110 मैच में टीम की कप्तानी की और 49 में जीत दिलाई। वहीं, दूसरे स्थान पर अनिल कुंबले हैं। उनकी कप्तानी में टीम 2009 में फाइनल खेली, लेकिन खिताब नहीं जीत सकी। कुंबले की कप्तानी में टीम ने 35 में से 19 मैच जीते, जबकि 16 में हार मिली। उनका विनिंग परसेंटेज विराट से ज्यादा है। विराट की कप्तानी में टीम ने 47.16 फीसदी, तो कुंबले की अगुआई में टीम 54.28% मैच जीतने में कामयाब रही।

    वॉटसन ने सबसे कम 3 मैच में कप्तानी की

    शेन वॉटसन ने सबसे कम 3 मैच के लिए आरसीबी की कमान संभाली और वे सिर्फ एक में ही टीम को जीत दिला पाए, जबकि दो में उसे हार झेलनी पड़ी।

    विटोरी की कप्तानी में आरसीबी ने 2011 में फाइनल खेला

    कुंबले के अलावा डेनिएल विटोरी के कप्तान रहते भी बेंगलुरु ने 2011 में फाइनल खेला। लेकिन तब चेन्नई सुपर किंग्स ने उसे खिताब जीतने से रोक दिया। विटोरी ने 28 मैच में कप्तानी करते हुए टीम को 15 में जीत दिलाई। राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टीम ने 14 में से 4 मैच जीते, तो 10 हारे। वहीं, पीटरसन के कप्तान रहते टीम 6 में से 2 ही मैच जीत सकी। बाकी 4 में उसे हार का सामना करना पड़ा।

    विराट पिछले 4 सीजन से टीम के टॉप स्कोरर

    बेंगलुरु ने पिछली बार 2016 में फाइनल में खेला था। तब उसे सनराइजर्स हैदराबाद ने ही हराया था। विराट की कप्तानी में आरसीबी के पास पहली बार चैम्पियन बनने का मौका है। बीते 4 सीजन में विराट कोहली ही टीम के टॉप स्कोरर रहे हैं। उन्होंने पिछले सीजन में 464, 2018 में 530, 2017 में 308 और 2016 में 973 रन बनाए थे।

    बेंगलुरु आईपीएल में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाली दूसरी टीम

    रॉयल चैलेंजर्स लीग के इतिहास में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाली दूसरी टीम है। आरसीबी ने अब तक 181 मैच में 84 जीते और 93 हारे हैं। 4 मुकाबले बेनतीजा रहे हैं। पहले स्थान पर 187 खेलने वाली मुंबई इंडियंस है।

    रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु टीम:

    विराट कोहली( कप्तान), एबी डीविलियर्स, देवदत्त पल्लीकल, गुरकीरत मान सिंह, मोइन अली, मोहम्मद सिराज, नवदीप सैनी, पार्थिव पटेल, पवन नेगी, शिवम दुबे, उमेश यादव, वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, एरॉन फिंच, क्रिस मॉरिस, जोस फिलिप, पवन देशपांडे, डेल स्टेन, शाहबाज अहमद, उसरू उडाना और एडम जांपा।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    IPL RCB; IPL UAE 2020 All-Time Records - Virat Kohli RCB Team Highest Score | Indian Premier League Records & Stats Of Royal Challengers Bangalore (RCB)

Amar ujala

NavBharat Times

Nai Dunia

Deshbandhu

Jansatta

livehindustan

indiatvnews

khaskhabar

dailynews360

  • बॉलीवुड के बाद अब IPL तक पहुंचा नेपोटिज्म, अब फैंस के निशाने पर आए सचिन के बेटे, जानिए क्यों


    आईपीएल का 13वां सीजन जल्द ही यूएई में शुरू होने वाला है। सभी फ्रेंचाइजी टीमों के खिलाड़ी जी जान से प्रैक्टिस कर रहे हैं। मैदान से लेकर ड्रेसिंग रूम। बीच से लेकर स्विमिंग पूल तक में उनकी मौजूदगी नजर आ रही है। आए दिन जारी होने वाली फोटो से भी फैंस का उत्साह बढ़ रहा है। हाल ही मुंबई इंडियंस के प्लेयर्स की एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। पूल में गत चैंपियन मुंबई इंडियंस टीम के कुछ खिलाड़ियों के साथ सचिन तेंदुलकर के बेटे और ऑलराउंडर अर्जुन मस्ती करते नजर आ रहे थे। अर्जुन ने फोटो इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर की, जबकि राहुल चाहर ने पूल सैशन की फोटो ट्विटर पर शेयर की। मुंबई इंडियंस खिलाड़ियों के साथ अर्जुन को देखकर फैन्स हैरान रह गए। ट्विटर पर नेपोटिज्म को लेकर अर्जुन को जमकर ट्रोल भी किया जा रहा है।ऐसा माना जा रहा है कि अर्जुन मुंबई इंडियंस टीम के साथ नेट बॉलर के रूप में गए हैं। हर फ्रेंचाइजी टीम अपने साथ कुछ नेट बॉलर्स लेकर गई है। चर्चा है कि अर्जुन नेट्स पर मुंबई इंडियंस के बल्लेबाजों को गेंदबाजी करने के लिए यूएई गए हैं, जिस तरह की प्रतिक्रिया मिल रही है उससे लगता है कि फैंस को मुंबई इंडियंस खिलाडिय़ों के साथ अर्जुन की मौजूदगी हजम नहीं हो रही। सोशल मीडिया के जरिए फैन्स ने पूछा है कि क्या महाराष्ट्र के पास अर्जुन से बेहतर गेंदबाज नहीं हैं? अर्जुन ने अभी तक आईपीएल में डेब्यू नहीं किया है और इसके अलावा 2020 आईपीएल के लिए ऑक्शन का हिस्सा भी नहीं थे।जानकारी के अनुसार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने आईपीएल के लिए फ्रेंंचाइजी टीमों को एसओपी सौंपा है। इसके मुताबिक यदि टीम को किसी खिलाड़ी को रिप्लेस करने की जरूरत पड़ती है तो वो यूएई में मौजूद क्रिकेटर से उसे रिप्लेस कर सकता है। ऐसे में अगर मुंबई इंडियंस टीम को जरूरत पड़ती है तो वो अर्जुन तेंदुलकर को इस सीजन में मैदान पर उतार सकती है।

  • IPL 2020 में मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलेंगे अर्जुन तेंडुलकर? टीम के साथ UAE में आए नजर


    सचिन तेंडुलकर के बेटे अर्जुन तेंडुलकर चार बार की आईपीएल चैंपियन टीम मुंबई इंडियंस के साथ यूएई गए हैं। इस समय उनकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इसमें वो पूल में मुंबई के खिलाड़ियों के साथ नजर आए। इस फोटो के बाद लोगों को यह लग रहा है कि अर्जुन मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा हैं और वह अगले सीजन में IPL डेब्यू करेंगे।आईपीएल में चार बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस टीम आगामी सीजन में अपना पहला मैच महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नै सुपर किंग्स से खेलेगी। मुंबई और चेन्नै के बीच मुकाबले से ही 13वें सीजन का आगाज 19 सितंबर से होगा। इससे पहले दोनों ही टीमें कड़ी मेहनत कर रही हैं और प्रैक्टिस में जुटी हैं। रोहित शर्मा की अगुआई वाली टीम मुंबई टीम सोमवार को कड़े अभ्यास के बाद पूल में रिलैक्स करती नजर आई। टीम के लेग स्पिनर राहुल चाहर ने एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की जिसमें ट्रेंट बोल्ट, जेम्स पैटिंसन, सौरभ तिवारी जैसे खिलाड़ी नजर आ रहे हैं, लेकिन इन खिलाड़ियों के बीच एक चेहरे ने सभी को हैरान किया - अर्जुन तेंडुलकर।अर्जुन यूएई में मुंबई इंडियंस टीम के साथ जुड़े तो हैं लेकिन वह नेट गेंदबाज के तौर पर टीम के साथ गए हैं। मुंबई के अलावा अन्य टीमें भी कई खिलाड़ियों को अपने साथ नेट गेंदबाज के तौर पर लेकर गई हैं। कुछ लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा था कि अर्जुन भी आईपीएल में खेलते नजर आएंगे लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि वह टीम में केवल एक नेट गेंदबाज के तौर पर ही जुड़े हैं। नेट बोलर का काम खिलाड़ियों को नेट पर प्रैक्टिस के दौरान गेंदबाजी करना होता है और वही काम मुंबई के अर्जुन करते नजर आएंगे।

  • खेल मंत्रालय की बड़ी घोषणा, और छह राज्यों में बनेगा खेलो इंडिया राज्य उत्कृष्टता केंद्र


    युवा प्रतिभाओं की पहचान करने के मकसद से खेल मंत्रालय छह अन्य राज्यों में खेलो इंडिया राज्य उत्कृष्टता केंद्र (केआईएससीई) स्थापित करने के लिए तैयार है। केआईएससीई का दूसरे चरण में असम, दादरा एवं नगर हवेली तथा दमन एवं दीव, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, मेघालय और सिक्किम में विस्तार होगा।इस साल की शुरुआत में, मंत्रालय ने पहले चरण में कर्नाटक, ओडिशा, केरल, तेलंगाना और उत्तर पूर्व के अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम और नागालैंड सहित आठ केंद्रों की पहचान की थी। यहां के मौजूदा केंद्रों का उन्नयन खेलो इंडिया राज्य उत्कृष्टता केंद्र (केआईएससीई) के रूप में किया जाएगा।मंत्रालय से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, प्रत्येक राज्य और केंद्र शासित प्रदेश द्वारा खेल सुविधाओं का चयन किया गया, जो उनके या उनकी एजेंसियों या किसी भी योग्य एजेंसियों के साथ उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ खेल आधारभूत संरचना है और उसे विश्व स्तरीय खेल सुविधाओं में विकसित किया जा सकता है।विज्ञप्ति के मुताबिक मंत्रालय खेल उपकरण, विशेषज्ञ कोच और उच्च प्रदर्शन प्रबंधकों की आवश्यकता के अंतर को कम करेगा। उन्होंने कहा, इसमें हर केन्द्र में अधिकतम तीन ओलंपिक खेलों का समर्थन किया जाएगा, हालांकि खेल विज्ञान और संबद्ध क्षेत्रों में समर्थन को अन्य खेल विषयों में बढ़ाया जा सकता है।दूसरे चरण के लिए चुने गये केद्रों में असम की राज्य खेल अकादमी, सरजूसाई खेल परिसर, गुवाहाटी ; न्यू स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, सिलवासा (दादरा एवं नगर हवेली तथा दमन एवं दीव); श्री शिव छत्रपति शिवाजी खेल परिसर, बालेवाड़ी, पुणे (महाराष्ट्र); एमपी अकादमी, भोपाल (मध्य प्रदेश); जेएनएस परिसर शिलांग (मेघालय) और पालजोर स्टेडियम, गंगटोक (सिक्किम) शामिल है।

  • IPL का पूरा शेड्यूल हुआ जारी, 19 सितंबर को अबु धाबी में होगा शुरू, देखें पूरी लिस्ट


    IPL का पूरा शेड्यूल जारी हो गया है जिसके तहत 19 सितंबर से आबु धाबी में इसकी शुरूआत होगी। इंडियन प्रीमियर लीग का यह 13वां संस्करण है। आईपीएल के 13वें सीजन का आगाज 19 सितंबर को अबु धाबी में होगा। उद्घाटन मैच में पिछली बार की चैम्पियन मुंबई इंडियंस (MI) और उपविजेता चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) में मुकाबला होगा। इसके बाद रविवार 20 सितंबर को दुबई में दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मुकाबला होगा।सोमवार 21 सितंबर को सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु दुबई में भिड़ेंगे। मंगलवार 22 सितंबर को शारजाह में राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपर किंग्स आमने-सामने होंगे। दुबई में आईपीएल के सबसे ज्यादा 24 मैच खेले जाएंगे। अबु धाबी में 20 मैच और शारजाह में 12 मैच खेले जाएंगे।टूर्नामेंट 19 सितंबर से शुरू होकर 53 दिनों तक चलेगा। IPL फाइनल 10 नवंबर को होगा. इस बार IPL के 10 डबल हेडर (एक दिन में दो मैच) मुकाबले खेले जाएंगे।इस बार आयोजकों ने IPL मैचों के नियमित समय से 30 मिनट आगे आने का फैसला किया है। दिन के मुकाबले अब शाम 4 बजे की जगह दोपहर 3:30 बजे से शुरू होंगे। शाम के मुकाबले 7:30 बजे से खेले जाएंगे, जो कि पहले रात 8 बजे से होते थे।

  • IPL छोड़कर क्यों भारत लौटे रैना, किया बड़ा खुलासा, धोनी और श्रीनिवासन को लेकर कही ऐसी बात


    चेन्नई सुपरकिंग्स के स्टार बल्लेबाज सुरेश रैना ने उनके आईपीएल छोड़कर दुबई से भारत लौटने को लेकर उठी तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए टीम के मालिक एन श्रीनिवासन को पिता तुल्य बताया और कहा कि वह फिर से चेन्नई कैम्प में लौट सकते हैं। रैना ने उनके अचानक भारत लौटने पर उठी तमाम चर्चाओं पर विराम लगाते हुए उन्होंने कहा कि वह सिर्फ निजी कारणों से स्वदेश लौटे थे और टीम के कप्तान माही भाई (महेंद्र सिंह धोनी) के साथ उनका कोई मतभेद नहीं था। उनके वापस लौटने पर श्रीनिवासन की कड़ी प्रतिक्रिया पर रैना ने कहा कि वह उनके लिए पिता समान हैं। उन्होंने कहा कि एक बाप अपने बच्चे को डांट सकता है। उन्होंने साथ ही संकेत दिया कि वह चेन्नई कैम्प में लौट सकते हैं और अभी अगले चार-पांच वर्षों तक आईपीएल खेल सकते हैं। 33 वर्षीया रैना ने उनके तथा चेन्नई टीम के बीच किसी भी तरह के विवाद और भेदभाव की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि वह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में पंजाब में अपने फूफा की मौत के बाद अपने परिवार को लेकर चिंता के कारण स्वदेश लौटे थे, लेकिन अब वह आईपीएल में अपनी टीम के पास लौट सकते हैं। रैना ने भारत लौटने के कारणों को स्पष्ट करते हुए कहा कि यह पूरी तरह से निजी फैसला था और वह अपने परिवार के कारण भारत लौटे थे। उन्होंने कहा, मेरे परिवार में कुछ ऐसा हुआ था जिसके लिए मेरा लौटना बहुत जरूरी था। चेन्नई सुपरकिंग्स टीम भी मेरा परिवार है और माही भाई मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। मेरे लिए यह फैसला लेने बहुत मुश्किल था। रैना ने कहा, ‘‘सीएसके और मेरे बीच कोई मतभेद नहीं है। कोई भी 12.5 करोड़ रुपये से मुंह फेरकर बिना ठोस कारण के वापस नहीं लौटेगा। मैं भले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुका हूं, लेकिन मैं अभी भी युवा हूं और अगले चार-पांच वर्षों तक आईपीएल में उनके लिए खेलना चाहता हूं।’’ उन्होंने अपने टीम मालिक श्रीनिवासन की कड़ी प्रतिक्रिया को लेकर कहा, ‘‘जब उन्होंने (श्रीनिवासन) यह प्रतिक्रिया दी थी तब वह मेरे वापस लौटने का असली कारण नहीं जानते थे। जब उन्हें असली कारण के बारे में पता चला तब उन्होंने मुझे एक संदेश भी भेजा। हमने इसके बारे में बातचीत की। सीएसके और मैं इस मुद्दे को छोड़कर आगे बढ़ना चाहते हैं। ’’ रैना ने सीएसके के साथ अपने भविष्य पर कहा, ‘‘मैं क्वारंटीन के दौरान भी प्रशिक्षण ले रहा था। आप नहीं जानते कि आप मुझे फिर से वहां कैम्प में देख भी सकते हैं।’’

samacharjagat