Last Updated: 15 Dec 2018 05:30 AM

India Top Stories

Lokmat Samachar

bhaskar

  • पहले दिन का खेल खत्म, ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 277/6; इशांत और हनुमा ने 2-2 विकेट लिए

    खेल डेस्क. ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ दूसरे टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म होने तक छह विकेट पर 277 रन बना लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। उसके लिए ओपनर मार्कस हैरिस ने सबसे ज्यादा 70 रन बनाए। वहीं, ट्रैविस हेड ने 58 और एरॉन फिंच ने 50 रन की पारी खेली। भारत की ओर से इशांत शर्मा और हनुमा विहारी ने 2-2 विकेट लिए। जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव को एक-एक सफलता मिली।

    ऑस्ट्रेलियाई ओपनर फिंच और हैरिस ने टीम को मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। इसमें फिंच ने 105 गेंद में 50 औरहैरिस ने 108 गेंद में 55 रन का योगदान दिया। 7 रन एक्स्ट्रा में मिले। फिंच ने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया।

    शमी की गेंद पर दो बार बीट हुए फिंच
    ऑस्ट्रेलियाई पारी का 12वां ओवर मोहम्मद शमी ने फेंका। यह उनका इस टेस्ट में पहला ओवर था। उन्होंने पहली ही गेंद पर एरॉन फिंच के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। इस पर विराट कोहली ने शमी से बातचीत की और डीआरएस ले लिया। हालांकि, रिव्यू में भी फिंच नॉटआउट रहे। अगली गेंद पर शमी ने फिंच को फिर बीट किया।

    ऑस्ट्रेलिया के विकेट:

    • पहला: जसप्रीत बुमराह ने 36वें ओवर की दूसरी गेंद पर फिंच को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। बुमराह की अंदर आती गेंद को फिंच समझ नहीं पाए और ऑन ड्राइव लगाने का प्रयास किया, लेकिन गेंद बल्ले की जगह उनके पैड पर लग गई।
    • दूसरा: फिंच के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए उस्मान ख्वाजा ज्यादा देर मैदान पर नहीं टिक सके। उन्होंने हैरिस के साथ सिर्फ 18 रन की ही साझेदारी की। ख्वाजा को 5 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव ने ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया।
    • तीसरा: तेज गेंदबाजों के खिलाफ बेहतर बल्लेबाजी कर रहेओपनर हैरिस स्पिन के सामने असहज नजर आ रहे थे। भारतीय टीम में शामिल एकमात्र पार्टटाइम स्पिनर हनुमा विहारी उन्हें लगातार परेशान कर रहे थे। पारी के 49वें ओवर में हनुमा की गेंद उछाल के साथ हैरिस के पास पहुंची, जिसे वे संभाल नहीं सके। गेंद उनके बल्ले सेलगकर स्लिप में अजिंक्य रहाणे के हाथों में चली गई।
    • चौथा: चायकाल के बाद 55वें ओवर की पहली गेंद पर इशांत को मैच की पहली सफलता मिली। उन्होंने पीटर हैंड्सकॉम्ब कोकोहली के हाथों कैच आउट कराया। हैंड्सकॉम्ब ने 16 गेंद पर 7 रन बनाए।
    • पांचवां: 77वें ओवर में हनुमा को दूसरी सफलता मिली। उन्होंने क्रीज पर जमे शॉन मार्श कोरहाणे के हाथों कैच आउट कराया। मार्श ने 98 गेंद में 6 चौके की मदद से 45 रन बनाए।
    • छठा: इशांत ने 83वें ओवर में ट्रैविस हेड को पवेलियन भेजा। हेड ने करियर का तीसरा अर्धशतक लगाया। इशांत की गेंद पर हेड थर्ड मैन पर शमी को कैच दे बैठे। उन्होंने मार्श के साथ पांचवें विकेट के लिए 84 रन की साझेदारी की थी।

    पर्थ में लगातार दूसरी बार फ्रंटलाइन स्पिनर के बिना खेल रही टीम इंडिया

    टीम इंडिया पर्थ में छह साल बाद खेल रही है। इससे पहले उसने 2012 में पर्थ के वाका स्टेडियम में टेस्ट खेला था। वह टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने पारी और 37 रन से जीता था। टीम इंडिया ने वह टेस्ट अपने फ्रंटलाइन (प्रमुख) स्पिनर के बिना खेला था। उस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने वैकल्पिक स्पिनर की भूमिका अदा की थी। उन्होंने 20 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। उस मैच में भारत की ओर से उमेश यादव ने 93 रन देकर सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए थे। इस साल जोहानिसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी भारतीय टीम बिना फ्रंटलाइन स्पिनर के खेली थी। हालांकि, उस टेस्ट में उसे जीत हासिल हुई थी।

    पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता

    ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी एकादश में कोई बदलाव नहीं किया। इसका मतलब है कि एडिलेड में जो खिलाड़ी आखिरी-11 में शामिल थे, वे ही इस टेस्ट में खेलेंगे। पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता। एडिलेड टेस्ट में विराट कोहली ने टॉस जीता था। टॉस के बाद विराट ने भी कहा कि यदि वे यहां जीतते तो बल्लेबाजी करने का ही फैसला लेते।

    बल्लेबाज रन गेंद 4s 6s
    मार्कस हैरिस कै. रहाणे बो. हनुमा 70 141 10 0
    एरॉन फिंच एलबीडबल्यू बो. बुमराह 50 105 6 0
    उस्मान ख्वाजा कै. पंत बो. उमेश 5 38 0 0
    शॉन मार्श कै. रहाणे बो. हनुमा 45 98 6 0
    पीटर हैंड्सकॉम्ब कै. कोहली बो. इशांत 7 16 0 0
    ट्रैविस हेड कै. शमी बो. इशांत 58 80 6 0
    टिम पेन नॉट आउट 16 34 2 0
    पैट कमिंस नॉट आउट 11 29 0 0

    रन: 277/6, ओवर: 90, एक्स्ट्रा: 15.

    विकेट पतन: 112/1, 130/2, 134/3, 148/4, 232/5, 251/6.

    गेंदबाजी: इशांत शर्मा: 16-7-35-2, जसप्रीत बुमराह: 22-8-41-1, उमेश यादव: 18-2-68-1, मोहम्मद शमी: 19-3-63-0, हनुमा विहारी: 14-1-53-2, मुरली विजय: 1-0-10-0.

    उमेश और हनुमा भारतीय एकादश में शामिल
    टॉस के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि इस टेस्ट के लिए आखिरी एकादश में उमेश यादव और हनुमा विहारी को शामिल किया गया है। उमेश, रविचंद्रन अश्विन की जगह शामिल किए गए हैं। हनुमा, रोहित शर्मा का विकल्प होंगे। वे छह नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरेंगे।

    टीमें इस प्रकार हैं :

    भारत : विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह।
    ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रैविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नॉथन लियोन, जोश हेजलवुड।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    इस सीरीज में पहला मैच खेल रहे हनुमा ने दो विकेट लिए।
    मार्कस हैरिस और एरॉन फिंच ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।
    मार्कस हैरिस ने करियर का पहला अर्धशतक लगाया।
    बुमराह ने एरॉन फिंच को आउट किया।
    अर्धशतकीय पारी के दौरान शॉट लगाते एरॉन फिंच।
    उमेश यादव ने उस्मान ख्वाजा को आउट किया।
    गेंदबाजी के दौरान गेंद को रोकने का प्रयास करते भारत के जसप्रीत बुमराह।
    ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने पहली बार टेस्ट में टॉस जीता।

  • पहले दिन का खेल खत्म, ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 277/6; स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

    FULL SCORECARD पर क्लिक करें।

    फिंच-हैरिस ने की शतकीय साझेदारी
    ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एरॉन फिंच और मार्कस हैरिस ने टीम को मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। इसमें फिंच ने 105 गेंद में 50 औरहैरिस ने 108 गेंद में 55 रन का योगदान दिया। 7 रन एक्स्ट्रा में मिले। फिंच ने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया।

    शमी की गेंद पर दो बार बीट हुए फिंच
    ऑस्ट्रेलियाई पारी का 12वां ओवर मोहम्मद शमी ने फेंका। यह उनका इस टेस्ट में पहला ओवर था। उन्होंने पहली ही गेंद पर एरॉन फिंच के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। इस पर विराट कोहली ने शमी से बातचीत की और डीआरएस ले लिया। हालांकि, रिव्यू में भी फिंच नॉटआउट रहे। अगली गेंद पर शमी ने फिंच को फिर बीट किया

    ऑस्ट्रेलिया के विकेट:

    • पहला: जसप्रीत बुमराह ने 36वें ओवर की दूसरी गेंद पर फिंच को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। बुमराह की अंदर आती गेंद को फिंच समझ नहीं पाए और ऑन ड्राइव लगाने का प्रयास किया, लेकिन गेंद बल्ले की जगह उनके पैड पर लग गई।
    • दूसरा: फिंच के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए उस्मान ख्वाजा ज्यादा देर मैदान पर नहीं टिक सके। उन्होंने हैरिस के साथ सिर्फ 18 रन की ही साझेदारी की। ख्वाजा को 5 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव ने ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया।
    • तीसरा: तेज गेंदबाजों के खिलाफ बेहतर बल्लेबाजी करने वाले ओपनर मार्कस हैरिस स्पिन के सामने असहज नजर आ रहे थे। भारतीय टीम में शामिल एकमात्र पार्टटाइम स्पिनर हनुमा विहारी उन्हें लगातार परेशान कर रहे थे। पारी के 49वें ओवर में हनुमा की गेंद उछाल के साथ हैरिस के पास पहुंची, जिसे वे संभाल नहीं सके। गेंद उनके बल्ले सेलगकर स्लिप में अजिंक्य रहाणे के हाथों में चली गई। हैरिस ने 141 गेंद में 70 रन बनाए।
    • चौथा: चायकाल के बाद 55वें ओवर की पहली गेंद पर इशांत शर्मा को मैच की पहली सफलता मिली। उन्होंने पीटर हैंड्सकॉम्ब को कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। हैंड्सकॉम्ब ने 16 गेंद पर 7 रन बनाए।
    • पांचवां: 77वें ओवर में हनुमा विहारी को दूसरी सफलता हासिल हुई। उन्होंने क्रीज पर जमे शॉन मार्श को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया। मार्श अर्धशतक लगाने से चूक गए। उन्होंने 98 गेंद में 6 चौके की मदद से 45 रन बनाए।
    • छठा: इशांत ने 83वें ओवर में ट्रैविस हेड को पवेलियन भेजा। हेड 80 गेंद में 58 रन की पारी खेलकर आउट हुए। उनका यह तीसरा अर्धशतक है। इशांत की गेंद पर हेड थर्ड मैन पर शमी को कैच दे बैठे। उन्होंने मार्श के साथ पांचवें विकेट के लिए 84 रन की साझेदारी की थी।

    पर्थ में लगातार दूसरी बार फ्रंटलाइन स्पिनर के बिना खेल रही टीम इंडिया

    टीम इंडिया पर्थ में छह साल बाद खेल रही है। इससे पहले उसने 2012 में पर्थ के वाका स्टेडियम में टेस्ट खेला था। वह टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने पारी और 37 रन से जीता था। टीम इंडिया ने वह टेस्ट अपने फ्रंटलाइन (प्रमुख) स्पिनर के बिना खेला था। उस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने वैकल्पिक स्पिनर की भूमिका अदा की थी। उन्होंने 20 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। उस मैच में भारत की ओर से उमेश यादव ने 93 रन देकर सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए थे। इस साल जोहानिसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी भारतीय टीम बिना फ्रंटलाइन स्पिनर के खेली थी। हालांकि, उस टेस्ट में उसे जीत हासिल हुई थी।

    पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता

    ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी एकादश में कोई बदलाव नहीं किया। इसका मतलब है कि एडिलेड में जो खिलाड़ी आखिरी-11 में शामिल थे, वे ही इस टेस्ट में खेलेंगे। पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता। एडिलेड टेस्ट में विराट कोहली ने टॉस जीता था। टॉस के बाद विराट ने भी कहा कि यदि वे यहां जीतते तो बल्लेबाजी करने का ही फैसला लेते।

    उमेश और हनुमा भारतीय एकादश में शामिल
    टॉस के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि इस टेस्ट के लिए आखिरी एकादश में उमेश यादव और हनुमा विहारी को शामिल किया गया है। उमेश, रविचंद्रन अश्विन की जगह शामिल किए गए हैं। हनुमा, रोहित शर्मा का विकल्प होंगे। वे छह नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरेंगे।

    टीमें इस प्रकार हैं :

    भारत : विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह।
    ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रैविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नॉथन लियोन, जोश हेजलवुड।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    मार्कस हैरिस और एरॉन फिंच ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।
    मार्कस हैरिस ने अर्धशतक लगाया।
    मैच के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली।
    अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान शॉट लगाते एरॉन फिंच।
    गेंदबाजी के दौरान गेंद को रोकने का प्रयास करते भारत के जसप्रीत बुमराह।
    भारत पर्थ में पांचवीं बार टेस्ट खेल रहा है।

  • ऑस्ट्रेलिया के चार विकेट गिरे, ट्रेविस हेड-मार्श क्रीज पर जमे; स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

    FULL SCORECARD पर क्लिक करें।

    फिंच-हैरिस ने की शतकीय साझेदारी
    ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एरॉन फिंच और मार्कस हैरिस ने टीम को मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। इसमें फिंच ने 105 गेंद में 50 औरहैरिस ने 108 गेंद में 55 रन का योगदान दिया। 7 रन एक्स्ट्रा में मिले। फिंच ने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया।

    शमी की गेंद पर दो बार बीट हुए फिंच
    ऑस्ट्रेलियाई पारी का 12वां ओवर मोहम्मद शमी ने फेंका। यह उनका इस टेस्ट में पहला ओवर था। उन्होंने पहली ही गेंद पर एरॉन फिंच के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। इस पर विराट कोहली ने शमी से बातचीत की और डीआरएस ले लिया। हालांकि, रिव्यू में भी फिंच नॉटआउट रहे। अगली गेंद पर शमी ने फिंच को फिर बीट किया

    ऑस्ट्रेलिया के विकेट:

    • पहला: जसप्रीत बुमराह ने 36वें ओवर की दूसरी गेंद पर फिंच को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। बुमराह की अंदर आती गेंद को फिंच समझ नहीं पाए और ऑन ड्राइव लगाने का प्रयास किया, लेकिन गेंद बल्ले की जगह उनके पैड पर लग गई।
    • दूसरा: फिंच के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए उस्मान ख्वाजा ज्यादा देर मैदान पर नहीं टिक सके। उन्होंने हैरिस के साथ सिर्फ 18 रन की ही साझेदारी की। ख्वाजा को 5 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव ने ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया।
    • तीसरा: तेज गेंदबाजों के खिलाफ बेहतर बल्लेबाजी करने वाले ओपनर मार्कस हैरिस स्पिन के सामने असहज नजर आ रहे थे। भारतीय टीम में शामिल एकमात्र पार्टटाइम स्पिनर हनुमा विहारी उन्हें लगातार परेशान कर रहे थे। पारी के 49वें ओवर में हनुमा की गेंद उछाल के साथ हैरिस के पास पहुंची, जिसे वे संभाल नहीं सके। गेंद उनके बल्ले सेलगकर स्लिप में अजिंक्य रहाणे के हाथों में चली गई। हैरिस ने 141 गेंद में 70 रन बनाए।
    • चौथा: चायकाल के बाद 55वें ओवर की पहली गेंद पर इशांत शर्मा को मैच की पहली सफलता मिली। उन्होंने पीटर हैंड्सकॉम्ब को कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। हैंड्सकॉम्ब ने 16 गेंद पर 7 रन बनाए।

    पर्थ में लगातार दूसरी बार फ्रंटलाइन स्पिनर के बिना खेल रही टीम इंडिया

    टीम इंडिया पर्थ में छह साल बाद खेल रही है। इससे पहले उसने 2012 में पर्थ के वाका स्टेडियम में टेस्ट खेला था। वह टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने पारी और 37 रन से जीता था। टीम इंडिया ने वह टेस्ट अपने फ्रंटलाइन (प्रमुख) स्पिनर के बिना खेला था। उस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने वैकल्पिक स्पिनर की भूमिका अदा की थी। उन्होंने 20 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। उस मैच में भारत की ओर से उमेश यादव ने 93 रन देकर सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए थे। इस साल जोहानिसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी भारतीय टीम बिना फ्रंटलाइन स्पिनर के खेली थी। हालांकि, उस टेस्ट में उसे जीत हासिल हुई थी।

    पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता

    ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी एकादश में कोई बदलाव नहीं किया। इसका मतलब है कि एडिलेड में जो खिलाड़ी आखिरी-11 में शामिल थे, वे ही इस टेस्ट में खेलेंगे। पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता। एडिलेड टेस्ट में विराट कोहली ने टॉस जीता था। टॉस के बाद विराट ने भी कहा कि यदि वे यहां जीतते तो बल्लेबाजी करने का ही फैसला लेते।

    उमेश और हनुमा भारतीय एकादश में शामिल
    टॉस के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि इस टेस्ट के लिए आखिरी एकादश में उमेश यादव और हनुमा विहारी को शामिल किया गया है। उमेश, रविचंद्रन अश्विन की जगह शामिल किए गए हैं। हनुमा, रोहित शर्मा का विकल्प होंगे। वे छह नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरेंगे।

    टीमें इस प्रकार हैं :

    भारत : विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह।
    ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रैविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नॉथन लियोन, जोश हेजलवुड।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    मार्कस हैरिस और एरॉन फिंच ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।
    मार्कस हैरिस ने अर्धशतक लगाया।
    मैच के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली।
    अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान शॉट लगाते एरॉन फिंच।
    गेंदबाजी के दौरान गेंद को रोकने का प्रयास करते भारत के जसप्रीत बुमराह।
    भारत पर्थ में पांचवीं बार टेस्ट खेल रहा है।

  • ऑस्ट्रेलिया का चौथा विकेट गिरा, इशांत ने हैंड्सकॉम्ब को आउट किया; स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

    FULL SCORECARD पर क्लिक करें।

    फिंच-हैरिस ने की शतकीय साझेदारी
    ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एरॉन फिंच और मार्कस हैरिस ने टीम को मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। इसमें फिंच ने 105 गेंद में 50 औरहैरिस ने 108 गेंद में 55 रन का योगदान दिया। 7 रन एक्स्ट्रा में मिले। फिंच ने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया।

    शमी की गेंद पर दो बार बीट हुए फिंच
    ऑस्ट्रेलियाई पारी का 12वां ओवर मोहम्मद शमी ने फेंका। यह उनका इस टेस्ट में पहला ओवर था। उन्होंने पहली ही गेंद पर एरॉन फिंच के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। इस पर विराट कोहली ने शमी से बातचीत की और डीआरएस ले लिया। हालांकि, रिव्यू में भी फिंच नॉटआउट रहे। अगली गेंद पर शमी ने फिंच को फिर बीट किया

    ऑस्ट्रेलिया के विकेट:

    • पहला: जसप्रीत बुमराह ने 36वें ओवर की दूसरी गेंद पर फिंच को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। बुमराह की अंदर आती गेंद को फिंच समझ नहीं पाए और ऑन ड्राइव लगाने का प्रयास किया, लेकिन गेंद बल्ले की जगह उनके पैड पर लग गई।
    • दूसरा: फिंच के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए उस्मान ख्वाजा ज्यादा देर मैदान पर नहीं टिक सके। उन्होंने हैरिस के साथ सिर्फ 18 रन की ही साझेदारी की। ख्वाजा को 5 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव ने ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया।
    • तीसरा: तेज गेंदबाजों के खिलाफ बेहतर बल्लेबाजी करने वाले ओपनर मार्कस हैरिस स्पिन के सामने असहज नजर आ रहे थे। भारतीय टीम में शामिल एकमात्र पार्टटाइम स्पिनर हनुमा विहारी उन्हें लगातार परेशान कर रहे थे। पारी के 49वें ओवर में हनुमा की गेंद उछाल के साथ हैरिस के पास पहुंची, जिसे वे संभाल नहीं सके। गेंद उनके बल्ले सेलगकर स्लिप में अजिंक्य रहाणे के हाथों में चली गई। हैरिस ने 141 गेंद में 70 रन बनाए।
    • चौथा: चायकाल के बाद 55वें ओवर की पहली गेंद पर इशांत शर्मा को मैच की पहली सफलता मिली। उन्होंने पीटर हैंड्सकॉम्ब को कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। हैंड्सकॉम्ब ने 16 गेंद पर 7 रन बनाए।

    पर्थ में लगातार दूसरी बार फ्रंटलाइन स्पिनर के बिना खेल रही टीम इंडिया

    टीम इंडिया पर्थ में छह साल बाद खेल रही है। इससे पहले उसने 2012 में पर्थ के वाका स्टेडियम में टेस्ट खेला था। वह टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने पारी और 37 रन से जीता था। टीम इंडिया ने वह टेस्ट अपने फ्रंटलाइन (प्रमुख) स्पिनर के बिना खेला था। उस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने वैकल्पिक स्पिनर की भूमिका अदा की थी। उन्होंने 20 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। उस मैच में भारत की ओर से उमेश यादव ने 93 रन देकर सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए थे। इस साल जोहानिसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी भारतीय टीम बिना फ्रंटलाइन स्पिनर के खेली थी। हालांकि, उस टेस्ट में उसे जीत हासिल हुई थी।

    पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता

    ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी एकादश में कोई बदलाव नहीं किया। इसका मतलब है कि एडिलेड में जो खिलाड़ी आखिरी-11 में शामिल थे, वे ही इस टेस्ट में खेलेंगे। पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता। एडिलेड टेस्ट में विराट कोहली ने टॉस जीता था। टॉस के बाद विराट ने भी कहा कि यदि वे यहां जीतते तो बल्लेबाजी करने का ही फैसला लेते।

    उमेश और हनुमा भारतीय एकादश में शामिल
    टॉस के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि इस टेस्ट के लिए आखिरी एकादश में उमेश यादव और हनुमा विहारी को शामिल किया गया है। उमेश, रविचंद्रन अश्विन की जगह शामिल किए गए हैं। हनुमा, रोहित शर्मा का विकल्प होंगे। वे छह नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरेंगे।

    टीमें इस प्रकार हैं :

    भारत : विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह।
    ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रैविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नॉथन लियोन, जोश हेजलवुड।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    मार्कस हैरिस और एरॉन फिंच ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।
    मार्कस हैरिस ने अर्धशतक लगाया।
    मैच के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली।
    अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान शॉट लगाते एरॉन फिंच।
    गेंदबाजी के दौरान गेंद को रोकने का प्रयास करते भारत के जसप्रीत बुमराह।
    भारत पर्थ में पांचवीं बार टेस्ट खेल रहा है।

  • ऑस्ट्रेलिया का तीसरा विकेट गिरा, हनुमा ने हैरिस को आउट किया; स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

    FULL SCORECARD पर क्लिक करें।

    फिंच-हैरिस ने की शतकीय साझेदारी
    ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एरॉन फिंच और मार्कस हैरिस ने टीम को मजबूत शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। इसमें फिंच ने 105 गेंद में 50 औरहैरिस ने 108 गेंद में 55 रन का योगदान दिया। 7 रन एक्स्ट्रा में मिले। फिंच ने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया।

    शमी की गेंद पर दो बार बीट हुए फिंच
    ऑस्ट्रेलियाई पारी का 12वां ओवर मोहम्मद शमी ने फेंका। यह उनका इस टेस्ट में पहला ओवर था। उन्होंने पहली ही गेंद पर एरॉन फिंच के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। इस पर विराट कोहली ने शमी से बातचीत की और डीआरएस ले लिया। हालांकि, रिव्यू में भी फिंच नॉटआउट रहे। अगली गेंद पर शमी ने फिंच को फिर बीट किया

    ऑस्ट्रेलिया के विकेट:

    • पहला: जसप्रीत बुमराह ने 36वें ओवर की दूसरी गेंद पर फिंच को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। बुमराह की अंदर आती गेंद को फिंच समझ नहीं पाए और ऑन ड्राइव लगाने का प्रयास किया, लेकिन गेंद बल्ले की जगह उनके पैड पर लग गई।
    • दूसरा: फिंच के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए उस्मान ख्वाजा ज्यादा देर मैदान पर नहीं टिक सके। उन्होंने हैरिस के साथ सिर्फ 18 रन की ही साझेदारी की। ख्वाजा को 5 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव ने ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया।
    • तीसरा: तेज गेंदबाजों के खिलाफ बेहतर बल्लेबाजी करने वाले ओपनर मार्कस हैरिस स्पिन के सामने असहज नजर आ रहे थे। भारतीय टीम में शामिल एकमात्र पार्टटाइम स्पिनर हनुमा विहारी उन्हें लगातार परेशान कर रहे थे। पारी के 49वें ओवर में हनुमा की गेंद उछाल के साथ हैरिस के पास पहुंची, जिसे वे संभाल नहीं सके। गेंद उनके बल्ले सेलगकर स्लिप में अजिंक्य रहाणे के हाथों में चली गई। हैरिस ने 141 गेंद में 70 रन बनाए।

    पर्थ में लगातार दूसरी बार फ्रंटलाइन स्पिनर के बिना खेल रही टीम इंडिया

    टीम इंडिया पर्थ में छह साल बाद खेल रही है। इससे पहले उसने 2012 में पर्थ के वाका स्टेडियम में टेस्ट खेला था। वह टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने पारी और 37 रन से जीता था। टीम इंडिया ने वह टेस्ट अपने फ्रंटलाइन (प्रमुख) स्पिनर के बिना खेला था। उस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने वैकल्पिक स्पिनर की भूमिका अदा की थी। उन्होंने 20 रन देकर एक विकेट हासिल किया था। उस मैच में भारत की ओर से उमेश यादव ने 93 रन देकर सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए थे। इस साल जोहानिसबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी भारतीय टीम बिना फ्रंटलाइन स्पिनर के खेली थी। हालांकि, उस टेस्ट में उसे जीत हासिल हुई थी।

    पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता

    ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी एकादश में कोई बदलाव नहीं किया। इसका मतलब है कि एडिलेड में जो खिलाड़ी आखिरी-11 में शामिल थे, वे ही इस टेस्ट में खेलेंगे। पेन ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के तौर पर पहली बार टॉस जीता। एडिलेड टेस्ट में विराट कोहली ने टॉस जीता था। टॉस के बाद विराट ने भी कहा कि यदि वे यहां जीतते तो बल्लेबाजी करने का ही फैसला लेते।

    उमेश और हनुमा भारतीय एकादश में शामिल
    टॉस के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि इस टेस्ट के लिए आखिरी एकादश में उमेश यादव और हनुमा विहारी को शामिल किया गया है। उमेश, रविचंद्रन अश्विन की जगह शामिल किए गए हैं। हनुमा, रोहित शर्मा का विकल्प होंगे। वे छह नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरेंगे।

    टीमें इस प्रकार हैं :

    भारत : विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह।
    ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रैविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नॉथन लियोन, जोश हेजलवुड।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    मार्कस हैरिस और एरॉन फिंच ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।
    मार्कस हैरिस ने अर्धशतक लगाया।
    मैच के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली।
    अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान शॉट लगाते एरॉन फिंच।
    गेंदबाजी के दौरान गेंद को रोकने का प्रयास करते भारत के जसप्रीत बुमराह।
    भारत पर्थ में पांचवीं बार टेस्ट खेल रहा है।

Amar ujala

NavBharat Times

Nai Dunia

Deshbandhu

Dabang Dunia

Jansatta

livehindustan

indiatvnews

newsstate

prabhasakshi

khaskhabar

dailynews360

  • क्रिकेट की दुनिया का सबसे खौफनाक बॉलर, वीडियो देखकर उड़ जाएंगे आपके होश


    भारत के घरेलू क्रिकेट में एक युवा गेंदबाज इस समय चर्चा के केंद्र में बना हुआ। यहां हम बात कर रहे हैं मणिपुर के बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबार रेक्स सिंह की। जिन्होंने अंडर-19 कूच बिहार ट्रॉफी में अपनी गेंदबाजी से इतिहास रच दिया। जम्मू कश्मीर के अनंतपुर में अरुणाचल प्रदेश के खिलाफ खेले गए मुकाबले में रेक्स सिंह ने अपनी स्विंग गेंदबाजी का शानदार नमूना पेश किया और अरुणाचल प्रदेश की पारी के सभी 10 विकेट चटकाकर सनसनी मचा दी। मैच में उन्होंने दोनों परियों में कुल 15 विकेट हासिल किए। रेक्स सिंह ने इसी साल मणिपुर के लिए रणजी ट्रॉफी में भी डेब्यू किया है। छोटे कद के बांए हाथ के इस तेज गेंदबाज की गेंदबाजी देखकर लोगों के जेहन में भारत के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान की याद ताजा हो गई। रेक्स सिंह का गेंदबाजी एक्शन, रनअप और स्विंग सब कुछ इरफान पठान की तरह ही है। रेक्स सिंह के सामने अरुणाचल प्रदेश की पूरी टीम 36 रन पर ढेर हो गई। उन्होंने 9.5 ओवर की गेंदबाजी में 11 रन देकर 10 विकेट झटके। इस दौरान उन्होंने 6 ओवर मेडन डाले। भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ये कारनामा सुभाष गुप्ते और अनिल कुंबले कर चुके हैं।

  • ISL-5: जीत के साथ सीजन के तीसरे ब्रेक पर जाना चाहेंगे गोवा, नार्थईस्ट


    हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन का तीसरा ब्रेक 17 दिसम्बर से शुरू हो रहा है और इससे पहले शुक्रवार को एफसी गोवा की टीम अपने घर में नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी का सामना करेगी।इस सीजन में अब तक आठ गोल और पांच एसिस्ट कर चुके फेरान कोरोमिनास इस मुकाबले के माध्यम से नार्थईस्ट के कप्तान बार्थोलोमेव ओग्बेचे को पीछे छोडऩा चाहेंगे, जिनके नाम भी आठ गोल हैं।एफसी गोवा के कोच सर्गियो लोबेरा ने कहा, कोरो हमारे अहम खिलाड़ी हैं। ऐसे इसलिए नहीं कि वह गोल करते हैं बल्कि इसलिए कि उनके नाम पांच एसिस्ट भी हैं। आप अगर गौर करें कि ऐसे बहुत ही कम खिलाड़ी हैं,जिनके नाम बराबर संख्या में एसिस्ट और गोल हैं।मजेदार बात यह है कि न तो ओग्बेचे और ना ही कोरो ने बीते तीन मैचों में गोल कि हैं। इससे इनकी टीमों के प्रदर्शन पर असर पड़ा है। यही कारण है कि नार्थईस्ट और गोवा को बीते तीन मैचों से जीत नहीं मिली है।गोवा के कोच ने कहा, बीते कुछ मैचों से हम अधिक गोल नहीं कर पा रहे हैं। हमें गलतियों से सीख लेकर बाकी के मैचों में अधिक से अधिक गोल करना होगा। इसके बावजूद गोवा इस सीजन में सबसे अधिक 22 गोल करने वाली टीम है। नार्थईस्ट इस मामले में इतनी अच्छी नहीं है लेकिन उसका गोल अंतर गोवा के बराबर है।यह गौर करने वाली बात यह है कि बीते चार मैचों में से गोवा ने अंक गंवाए हैं और पहला गोल खाया है। इसके बाद वह बराबरी करने के लिए संघर्ष करती दिखी है। गोवा को अपनी इस कमी पर जीत हासिल करनी होगी और जीत की पटरी पर लौटना होगा।नार्थईस्ट की टीम घर से बाहर पांच मैचों से अजेय है और इस दौरान अधिकतम 15 में से उसने सिर्फ दो अंक गंवाए हैं। हाईलैंड्र्स नाम से मशहूर इस टीम का डिफेंस भी अच्छा खेल रहा है और इसने सिर्फ नौ गोल खाए हैं। अब देखने वाली बात यह है कि यह टीम गोवा के शानदार फारवर्ड लाइन के खिलाफ कैसा खेलती है?नार्थईस्ट के कोच एल्को स्काटोरी ने कहा, मेरी अपनी कुछ समस्याएं हैं। हमने सीजन 22 खिलाडिय़ों के साथ शुरू किया था लेकिन अब मेरे पास 17 खिलाड़ी हैं। इनमें से दो की फिटनेस पर सवालिया निशान हैं। हमने बीते सप्ताह पांच मैच खेले और यही कारण है कि हमारे कुछ खिलाड़ी आज चोटिल हैं।नार्थईस्ट के लिए रोवलिन बोर्गेस को अहम किरदार निभाना होगा। इस मिडफील्डर ने बहुत कम समय में खुद को नार्थईस्ट के अहम खिलाडिय़ों में शामिल कर लिया है।अब देखने वाली बात यह है कि क्या गोवा की टीम ब्रेक पर जाने से पहले जीत हासिल कर पाती है या नहीं या फिर स्काटोरी की टीम जीत हासिल करते हुए अंक तालिका में दूसरे स्थान पर रहते हुए ब्रेक पर जाएगी। गोवा अगर जीतती है तो वह टॉप-4 में लौट आएगी। दिल्ली पर जमशेदपुर की जीत के कारण वह अभी पांचवें स्थान पर खिसक गई है।

  • इस गेंदबाज ने महज 11 रन देकर पूरी टीम को भेजा पवेलियन, कुंबले की दिलाई याद


    मणिपुर के एक युवा गेंदबाज ने एक पारी में सभी 10 विकेट लेकर दिग्गज गेंदबाज अनिल कुंबले की याद दिला दी। इस युवा क्रिकेटर का नाम रैक्स राजकुमार सिंह है। उन्होंने यह उपलब्धि अंडर-19 खिलाड़ियों के लिए खेली जा रही कूच बिहार ट्रॉफी के एक मैच में हासिल की। मणिपुर की ओर से खेलते हुए राजकुमार ने अरुणाचल प्रदेश की पूरी टीम को सिर्फ 11 रन देकर 10 विकेट हासिल करते हुए समेट दिया। इस 18 वर्षीय मध्यम गति के गेंदबाज ने 9.5 ओवर की गेंदबाजी की। रोचक बात यह है कि इस दौरान उन्होंने 6 ओवर मेडन ही किए। आउट होने वाले बल्लेबाजों में पांच बोल्ड हुए, जबकि 3 खिलाड़ी LBW आउट हुए। उन्होंने 2 खिलाड़ियों को विकेट के पीछे कैच आउट कराया। इस उपलब्धि के दौरान राजकुमार तीन बार हैटट्रिक के करीब पहुंचे, लेकिन वह पूरी नहीं कर सके। मैच में अरुणाचल प्रदेश की पहली पारी में 138 रनों के जवाब में मणिपुर की पारी 122 रनों पर सिमट गई। इसके बाद मणिपुर ने दूसरी पारी में अरुणाचल प्रदेश को 36 रन पर ढेर दिया। इस तरह मणिपुर ने जीत के लिए मिले 53 रन का लक्ष्य बिना विकेट गंवाए हासिल कर लिया। इस मैच में करिश्माई गेंदबाज राजकुमार ने 15 विकेट झटके। उन्होंने पहली पारी में 33 रन देकर 5 विकेट लिए थे। उल्लेखनीय है कि इंटरनैशनल लेवल पर 1999 में कुंबले ने पाकिस्तान के खिलाफ दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर 74 रन देकर पारी में 10 विकेट झटके थे।

  • इस घातक बॉलर ने सिर्फ 11 रन देकर झटके 10 विकेट


    मणिपुर के 18 वर्षीय रेक्स राजकुमार ने कूच बिहार ट्रॉफी में अरूणाचल प्रदेश के खिलाफ मैच की एक पारी में सभी 10 विकेट लेने का शानदार कीर्तिमान अपने नाम किया है। मध्यम तेज गेंदबाज ने अंडर-19 क्रिकेट टूर्नामेंट में घातक गेंदबाजी करते हुये एक पारी में 11 रन देकर सभी 10 विकेट अपने नाम किये। राजकुमार की गेंदबाजी की बदौलत मणिपुर ने अरूणाचल प्रदेश को यहां अनंतपुर स्थित रूरल डेवलपमेंट ट्रस्ट स्टेडियम में खेले गये एकतरफा मैच में 10 विकेट से हराया। मणिपुर की राजधानी इम्फाल में जन्मे राजकुमार ने अरूणाचल की दूसरी पारी में 9.5 ओवर तक गेंदबाजी की जिसमें से उन्होंने छह ओवर मेडन डाले। राजकुमार ने अपनी गेंदबाजी के दौरान पांच बल्लेबाजों को बोल्ड किया जबकि दो बल्लेबाजों को पगबाधा किया। इसके अलावा उन्होंने दो बल्लेबाजों को लपका तथा एक बल्लेबाज को उनकी गेंद पर किसी अन्य फील्डर ने लपका। उनकी गेंदबाजी के दौरान तीन बार उनके पास हैट्रिक के भी मौके आये। राजकुमार की गेंदबाजी के कारण अरूणाचल की दूसरी पारी केवल 36 रन पर सिमट गयी। सुबह मणिपुर ने मैच में अपनी पहली पारी की शुरूआत कल के तीन विकेट पर 89 रन से आगे बढ़ाते हुये की थी लेकिन वह अरूणाचल की गेंदबाजी के कारण 122 रन पर सिमट गयी। अरूणाचल ने पहली पारी में 138 रन बनाये थे। अरूणाचल के पास पहली पारी से 16 रन की बढ़त थी लेकिन मणिपुर के राजकुमार ने अपनी गेंदबाजी से विपक्षी टीम की दूसरी पारी 36 रन पर ही समेट दी। मणिपुर ने फिर 53 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए बिना विकेट नुकसान के मैच जीत लिया जिसमें शुनबम चौहान ने नाबाद 32 रन बनाये। मणिपुर ने 7.5 ओवर में 55 रन बनाकर मैच जीता। राजकुमार ने इस सत्र में रणजी ट्रॉफी में भी अपना पदार्पण किया है और मैच में 15 विकेट निकाले थे।

  • आईपीएल-12 के लिए 346 खिलाड़ियों की होगी नीलामी


    इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन के लिए होने वाली नीलामी में 346 खिलाड़ी हिस्सा लेंगी। नीलामी 18 दिसंबर को जयपुर में होगी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी।इससे पहले, नीलामी के लिए इस बार 1003 खिलाडिय़ों ने अपना नामांकन कराया था लेकिन लीग की आठ टीमों ने छंटनी करके अब 346 खिलाडिय़ों की सूची आईपीएल की कार्यकारी परिषद को सौंप दी है।लीग के इतिहास में ऐसा पहली बार है कि नौ राज्यों के खिलाडिय़ों ने दुनिया की सबसे धनी इस क्रिकेट लीग में नीलामी के लिए अपना नामांकन कराया है। इनमें अरुणाचल प्रदेश, बिहार, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, उत्तराखंड और पुडुचेरी शामिल हैं। इसी साल बीसीसीआई ने इन नौ राज्यों को घरेलू क्रिकेट खेलने की अनुमति दी थी।इन 346 खिलाडिय़ों में नौ ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनका बेस प्राइस दो करोड़ रुपये हैं। इनमें ब्रैंडन मैक्लम, क्रिस वोक्स, लसिथ मलिंगा, शॉन मार्श, कोलिन इंग्राम, कोरी एंडरसन, एंजेलो मैथ्यूज और डी आर्शी शॉर्ट शमिल हैं।भारत के जयदेव उनादकट पिछली बार 11.5 करोड़ रुपये में बिके थे। वहीं, 1.5 करोड़ रुपये के बेस प्राइस वाले खिलाडिय़ों की सूची में 10 खिलाड़ी शामिल हैं, जिसमें एक भारतीय और नौ विदेशी खिलाड़ी हैं। इनमें डेल स्टेन और मोर्ने मोर्कल जैसे खिलाड़ी हैं।एक करोड़ के बेस प्राइस वाले खिलाडिय़ों में चार भारतीय सहित कुल 19 खिलाड़ी नीलामी में उतर रहे हैं। युवराज सिंह, अक्षर पटेल और मोहम्मद शमी का बेस प्राइस इस बार एक करोड़ रुपये हैं। 75 लाख रुपये की बेस प्राइस सूची में इस बार दो भारतीय सहित कुल 18 खिलाडिय़ों की बोली लगने जा रही है। इनमें भारतीय तेज गेंदबाज इशांत शर्मा भी शामिल हैं।इसके अलावा 50 लाख रुपये के बेस प्राइस वालों में कुल 62 खिलाड़ी नीलामी में उतरने जा रहे हैं। इनमें 18 भारतीय और 44 विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं। आईपीएल के 12वें सीजन के लिए सात ऐसे खिलाड़ी हैं जो पहली बार नीलामी में उतरने जा रहे हैं और इनका बेस प्राइस 40 लाख रुपये हैं। ये सातों खिलाड़ी विदेशी है। 30 लाख रुपये के बेस प्राइस वालों में कुल आठ खिलाडिय़ों की बोली लगने जा रही है। इन आठ में से पांच भारतीय और तीन विदेश हैं। ये आठों खिलाड़ी पहली बार नीलामी का हिस्सा बनने जा रहे हैं।वहीं, 20 लाख रुपये के बेस ब्राइस वालों की सूची में कुल 213 खिलाड़ी हैं जो पहली बार लीग के लिए नीलामी में बिकने जा रहे हैं। इन 213 खिलाडिय़ों में 196 भारतीय और 17 विदेशी हैं।

samacharjagat

dainiksaveratimes