Last Updated: 18 Jun 2019 08:26 AM

India Top Stories

Lokmat Samachar

bhaskar

  • वेस्टइंडीज ने बांग्लादेश को 322 रन का लक्ष्य दिया; होप, हेटमायर और लेविस का अर्धशतक

    खेल डेस्क.वर्ल्ड कप के 23वें मैच में सोमवार को टॉन्टन में वेस्टइंडीज ने बांग्लादेश को 322 रन का लक्ष्य दिया। बांग्लादेश ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया। वेस्टइंडीज ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 321 रन बनाए। उसके लिए सबसे ज्यादा रन शाई होप ने बनाए। उन्होंने 121 गेंद पर 96 रन बनाए। उनके अलावा इविन लेविस ने 70 और शिमरॉन हेटमायर ने 50 रन की पारी खेली। बांग्लादेश के लिए मुस्तफिजुर रहमान और मोहम्मद सैफुद्दीन ने 3-3 विकेट लिए।

    हेटमायर ने 25 गेंद पर अर्धशतक लगाया। वे मुस्तफिजुर की गेंद पर आउट हुए। हेटमायर ने अपनी पारी में चार चौके और तीन छक्के लगाए।उन्होंने होप के साथ चौथे विकेट के लिए 83 रन की साझेदारी की। इससे पहले इविन लेविस 70 रन बनाकर आउट हुए। शाकिब की गेंद शब्बीर रहमान ने उनका कैच लिया। लेविस ने होप के साथ दूसरे विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी की।निकोलस पूरन 30 गेंद पर 25 रन बनाकर शाकिब की गेंद पर आउट हो गए। कप्तान जेसन होल्डर ने 15 गेंद पर 33 और डैरेन ब्रावो ने 15 गेंद पर 19 रन बनाए।

    शून्य पर आउट हुए गेल और रसेल

    सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल तीसरे ओवर में खाता खोले बगैरआउट हो गए। उन्हें सैफुद्दीन ने विकेटकीपर मुशफिकुर के हाथों कैच कराया।आंद्रे रसेल खाता खोले बगैर मुस्तफिजुर की गेंद पर पवेलियन लौट गए।

    ##

    मोहम्मद मिथुन की जगह लिटन दास बांग्लादेश की टीम में

    इससे पहलेबांग्लादेश ने टीम में एक बदलाव करते हुए मोहम्मद मिथुन की जगह लिटन दास को टीम में शामिल किया। वहीं, वेस्टइंडीज ने भी एक बदलाव किया। उसने कार्लोस ब्रैथवेट की जगह डैरेन ब्रावो को टीम में लिया।

    दोनों टीमें
    वेस्टइंडीज:जेसन होल्डर (कप्तान), क्रिस गेल, इविन लेविस, शाई होप (विकेटकीपर), डैरेन ब्रावो, निकोलस पूरन, शिमरॉन हेटमायर, आंद्रे रसेल, शेल्डन कॉटरेल, ओशाने थॉमस, शेनॉन गेब्रिएल।

    बांग्लादेश:मशरफे मुर्तजा (कप्तान), तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम (विकेटकीपर), लिटन दास, महमूदुल्लाह, मोसादेक हुसैन, मोहम्मद सैफुद्दीन, मेहदी हसन, मुस्तफिजुर रहमान।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    बल्लेबाजी के दौरान शॉट लगाते शाई होप।
    शिमरॉन हेटमायर ने 25 गेंद की पारी में चार चौके और तीन छक्के लगाए।
    शाकिब ने निकोलस पूरन और इविन लेविस को आउट किया।
    इविन लेविस ने 67 गेंद की पारी में दो छक्के लगाए।
    आउट होने के बाद पवेलियन लौटते क्रिस गेल।
    सैफुद्दीन ने बांग्लादेश को पहली सफलता दिलाई।
    टॉस के दौरान वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर और बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा।

  • पाक मीडिया ने कहा- टीम के हारने की वजह खिलाड़ियों में गुटबाजी और सरफराज से नाराजगी

    कराची. वर्ल्ड कप में पाकिस्तान रविवार को हुए मुकाबले में भारत से बुरी तरह हार गया। इसके बाद पाक टीम की लगातार आलोचना हो रही है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इस हार की वजह पाक टीम के खिलाड़ियों में गुटबाजी और उनकी सरफराज से नाराजगी थी। मैनचेस्टर में हुए मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 337 रन का लक्ष्य दिया था। बारिश से प्रभावित इस मैच में पाक को 40 ओवर में 302 रन का लक्ष्य मिला था। लेकिन, टीम 212 रन ही बना पाई।


    पाकिस्तान के समा न्यूज चैनल ने कहा कि आउट होने के बाद जब सरफराज ड्रेसिंग रूम में पहुंचे तो वे भड़क उठे। हालांकि, जब न्यूज एजेंसी ने पाक खिलाड़ियों से संपर्क किया तो उन्होंने गुटबाजी की बात से इनकार कर दिया। लेकिन, इन खिलाड़ियों ने इस बात की पुष्टि की कि सरफराज कुछ खिलाड़ियों पर भड़क गए थे।


    सरफराज ने इमाद और इमाम पर लगाया आरोप
    रिपोर्ट् के मुताबिक, सरफराज ने इमाद वसीम और इमाम उल हक समेत कुछ खिलाड़ियों पर समर्थन ना करने और अलग ग्रुप बनाने का आरोप लगाया। कुछ अन्य रिपोर्टों में भी कहा गया कि पाक टीम कई हिस्सों में बंटी हुई है। दुनिया न्यूज चैनल ने कहा कि पाक टीम में दो ग्रुप हैं। एक मोहम्मद आमिर की अगुवाई में चलता है तो दूसरा इमाद चला रहे हैं। इमाद का ग्रुप ही सरफराज की हार की वजह है।

    पाक एक्टर ने सोशल मीडिया शेयर वॉइस मैसेज पोस्ट किया था
    पाकिस्तान को वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया से भी हार मिली। इसके बाद पाकिस्तान के एक नामचीन कलाकार और क्रिकेट फैन ने वॉइस मैसेज सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने शोएब मलिक, इमाद, बाबर आजम पर गुटबंदी का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि यह गुट सरफराज के खिलाफ काम कर रहा है और उनके लिए मुश्किलें पैदा कर रहा है।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    प्रैक्टिस सेशन के दौरान पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद (बाएं) और हसन अली।

  • स्मिथ ने हूटिंग रोकने पर 8 दिन बाद की कोहली की तारीफ, कहा- उन्होंने सराहनीय काम किया

    लंदन. ओवल में 9 जून को भारत-ऑस्ट्रेिलया के मैच में दर्शकों ने स्टीव स्मिथ की हूटिंग की थी। मैच के दौरान टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने उन्हें ऐसा करने से मना किया और स्मिथ का समर्थन करने के लिए कहा। इस घटना के 8 दिन बाद स्मिथ ने कोहली की तारीफ की। उन्होंने इसे सराहनीय काम बताया। श्रीलंका के खिलाफ जीत के बाद स्मिथ ने रिपोर्टर से कहा, ‘विराट ने यह सराहनीय काम किया।’

    स्मिथ ने कहा, ‘इंग्लैंड के दर्शकों की हूटिंग से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं सिर्फ उसे नजरअंदाज कर रहा हूं लेकिन कोहली ने शानदार काम किया।' दर्शकों ने स्मिथ के सामने चीटर-चीटर के नारे लगाए। मैच जीतने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दर्शकों के इस बर्ताव के लिए स्मिथ से माफी मांगी। मार्च 2018 में स्टीव स्मिथ पर बॉल टैम्परिंग के कारण एक साल का प्रतिबंध लगा था, जो हाल ही में खत्म हुआ है।

    कोहली ने कहा था- बुरा बर्ताव सहन नहीं कर सकता
    विराट ने मैच के बाद मीडिया के सामने स्मिथ से माफी मांगी। उन्होंने कहा, ‘‘नारे लगाने वाले दर्शकों में सबसे ज्यादा भारतीय थे, इसलिए मैंने ऐसा किया। मैं नहीं चाहता कि कोई खराब उदाहरण पेश हो। वे (स्मिथ) सिर्फ क्रिकेट खेल रहे हैं। वे सिर्फ वहां खड़े थे। उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया था, जिससे कि उनके साथ ऐसा बर्ताव किया गया। मैं उनसे दर्शकों की तरफ से माफी मांगता हूं, क्योंकि यह सब जब हो रहा था, तब मैं भी वहां मौजूद था। मैं ऐसे किसी भी बुरे बर्ताव को सहन नहीं कर सकता।’



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    विराट कोहली और स्टीव स्मिथ।

  • भारत से मैच से पहले शोएब रात 2 बजे तक बार में थे, सानिया बोलीं- क्या डिनर भी ना करें?

    खेल डेस्क. वर्ल्डकप में भारत के खिलाफ मैच से पहले शनिवार रात 2 बजे तक शोएब मलिक और सानिया मिर्जा अपनी बेटी के साथ एक बार में मौजूद थे। इनके साथ पाक टीम के कुछ अन्य खिलाड़ी भी वहीं मौजूद थे। बार में मौजूद पाकिस्तानी फैन्स ने इसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया। वीडियो सामने आने के बाद सानिया मिर्जा ने कहा कि क्या हम डिनर करने भी नहीं जा सकते?

    भारत के खिलाफ मैच में शोएब मलिक हार्दिक पांड्या की गेंद पर शून्य पर आउट हो गए थे। मैच से पहले कैफे जाने का वीडियो सामने आने के बाद उनकी आलोचना हो रही है। वीडियो में वहाब रियाज, इमाद वसीम और इमाम उल हक भी नजर आ रहे हैं।

    फैन्स ने ही शेयर किया वीडियो

    मैनचेस्टर के शीशा हुक्का लाउंज और बार में कुछ पाकिस्तानी फैन्स भी थे। उनमें से ही किसी ने चंद सेकंड का वीडियो बनाया और फोटो भी ली। इसमें सानिया और शोएब साफ नजर आ रहे हैं। इसमें एक महिला भी स्मोकिंग करती नजर आती है। हालांकि, कुछ लोगों का कहना है कि वीडियो 15 नहीं बल्कि 14 जून की रात का है।

    ####

    ये निजता का हनन: सानिया

    सानिया ने ट्वीट में वीडियो पोस्ट करने वाले व्यक्ति से कहा, “आपने यह वीडियो हमारी इजाजत के बगैर बनाया। यह हमारी निजता का अपमान है। हमारे साथ बच्चा भी था। हम डिनर करने गए थे। क्या मैच हार जाएंगे तो खाना नहीं खाएंगे? यहां मूर्खों की मंडली है। अगली बार अच्छी कोशिश कीजिए।”

    ##

    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    कैफे में शोएब मलिक और सानिया मिर्जा।

  • ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका का मुकाबला आज; ये हो सकती हैं दोनों टीमों की प्लेइंग 11

    खेल डेस्क. विश्व कप क्रिकेट 2019 में शनिवार को 2 मैच होने हैं। पहला मैच ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच लंदन के द ओवल में खेला जाएगा। भारतीय समय के अनुसार यह मैच दोपहर 3 बजे शुरू होगा। ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा निश्चित तौर पर भारी दिखाई देता है। उन्होंने 4 में से 3 मैच जीते हैं। सिर्फ एक मैच में हार का सामना करना पड़ा है और वो भारत के खिलाफ था। दूसरी तरफ, श्रीलंका है। इस टीम ने विश्व कप में सिर्फ एक मैच जीता है और उनके दो मैच बारिश के कारण रद्द हुए हैं। यहां हम आपको शनिवार 15 जून को होने वाले इस मैच के लिए दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग 11 की जानकारी दे रहे हैं।

    ऑस्ट्रेलिया : चौथी जीत पर नजर
    अगर भारत के खिलाफ पराजय को छोड़ दें तो ऑस्ट्रेलिया ने अब तक वास्तव में विश्व विजेता की तरह प्रदर्शन किया है। वॉर्नर ने पाकिस्तान के खिलाफ शतक लगाकर बता दिया कि वो क्यों हर टीम के लिए खतरा हैं। मार्कस स्टॉयनिस भी अब फिट हो चुके हैं। फिर भी एरोन फिंच उन्हें आराम दे सकते हैं। क्योंक टूर्नामेंट काफी लंबा है।

    ये हो सकती है ऑस्ट्रेलिया की प्लेइंग XI
    एरोन फिंच (कप्तान), डेविड वॉर्नर, स्टीवन स्मिथ, उस्मान ख्वाजा, ग्लेन मैक्सवेल, एलेक्स कैरी (विकेट कीपर), नाथन कुल्टर नाइल, पैट कमिंस, केन रिचर्डसन, नाथन लियोन और मिशेल स्टार्क।

    श्रीलंका : सीमित विकल्प
    मैच से पहले श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने एक इंटरव्यू में कहा- हम टीम इंडिया की नकल करके ऑस्ट्रेलिया को नहीं हरा सकते। हमारे विकल्प सीमित हैं। हमारे पास 140 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा की रफ्तार वाले गेंदबाज नहीं हैं। न ही ऐसा टॉप ऑर्डर जिसमें कोई ना कोई हर मैच में शतक बनाता हो। लेकिन, हम सीमित विकल्पों में भी ऑस्ट्रेलिया को बेहतर टक्कर दे सकते हैं।

    ये हो सकती है श्रीलंका की प्लेइंग XI
    दिमुथ करुणारत्ने (कप्तान), अविष्का फर्नांडो, सुरंगा लकमल, लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्यूज, कुसल मेंडिस (विकेट कीपर), लहिरू थिरिमाने, इसरू उदाना, थिसारा परेरा, नुवान प्रदीप और जेफ्री वंडारसे।



    Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
    ऑस्ट्रेलिया ने इस विश्व कप में चार में से तीन मैच जीते हैं। (फाइल)

Amar ujala

NavBharat Times

Nai Dunia

Deshbandhu

Dabang Dunia

Jansatta

livehindustan

indiatvnews

abpnews

prabhasakshi

khaskhabar

dailynews360

  • सब्जी बेचकर मां ने बेटी को बनाया इंटरनेशनल बॉक्सर, भाई काटता है बाल


    युवा और साहसी जमुना बोरा को आज कौन नहीं जानता। असम के सोनितपुर जिले के ढेकियाजुली की रहने वाली इस मुक्केबाज को अपने सपनों को पूरा करने के लिए बहुत दूर तक जाना है। बेलसिरी गांव में जन्मी जमुना ने सभी बाधाओं से जूझते हुए अपने सपने को पूरा किया है। 22 वर्षीय खिलाड़ी बॉक्सिंग के क्षेत्र में दिन-ब-दिन इतिहास रच रही हैं। आज सभी के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन चुकी जमुना को आगे बढाने में उनकी मां निर्मला बोरा का बड़ा योगदान रहा है। उनकी मां ने जमुना को अपने सपने पूरा करने में कही भी उनकी कमजोर आर्थिक स्थिति को आड़े नहीं आने दिया। बेटी के मुक्केबाजी के सपने को पूरा करने के लिए मां निर्मला ने सब्जियां भी बेची।7 मई 1997 को जन्मी जमुना ने 2009 में वुशु(चीनी मार्शल आर्ट) के रूप में अपने करियर की शुरुआत की। वह जिला स्तर पर भी वुशु खिलाड़ी के रूप में स्वर्ण पदक जीत चुकी है। इसी साल बाद में भारतीय खेल प्राधिकरण के साथ प्रशिक्षण मिलने पर उन्होंने बॉक्सिंग के लिए प्रशिक्षण लेना शुरू किया।अपने खेल करियर में खिलाड़ी ने अनेक उपलबिधयां हासिल की है, जिनमें 2013 में सर्बिया में हुए दूसरे नेशनल कप इंटरनेशनल सब-जूनियर गर्ल्स बॉक्सिंग टूर्नामेंट में स्वर्ण कप जीतने के साथ ही कई अन्तर्राष्ट्रीय स्पर्धाओ में भी पदक प्राप्त किए हैं। इसके साथ ही 2014 में जमुना ने रुस में एक और टाइटल अपने नाम किया।2015 में जमुना ने ताइपे में हुई विश्व मुक्केबाजी चैंम्पियनशिप में 57 किलोग्राम वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया। साथ ही जमुना गुवाहाटी में हुए दूसरे इंडिया ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में भी स्वर्ण पदक जीत चुकी है।10 वर्ष की उम्र में पिता का साया खो देने वाली खिलाड़ी का एक बड़ा भाई और एक बहन है। जमुना ने अपनी स्कूली शिक्षा मेजेनगुली प्राइमरी स्कूल से, हायर सैकेंडरी आर्य विद्यापीठ और स्नातक लोकनायक ओमो कुमार दास कॉलेज से पूरी की है।यह गर्व की बात है कि इस खिलाड़ी का नाम बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया में पंजीकृत है। साथ ही जमुना असम राइफल्स की कर्मचारी भी है।बाक्सिंग में अपना नाम बनाने वाली जमुना शापिंग और घूमने की शौकीन है। साथ ही सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी सक्रिय रहती हैं।

  • दुनिया की सबसे खतरनाक बॉक्सर ने हिंदुस्तान की जनता से किया ऐसा वादा, देखिए ये Video


    छह बार की विश्व चैंपियन और लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने देश को आश्वस्त किया है कि वह देशवासियों को 2020 के टोक्यो ओलंपिक में स्माइल का पूरा मौका देंगी। लीजेंड महिला मुक्केबाज मैरीकॉम ने गुरूवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कोलगेट पामोलिव (इंडिया) के कीप इंडिया स्माइलिंग मिशन को लांच करते हुए कहा, मुक्केबाजी मेरा जीवन और जुनून है और मैं अपनी हर सांस तक मुक्केबाजी करती रहूंगी।छह बार की विश्व चैंपियन ने कहा, 30 साल से अधिक की उम्र हो जाने के बाद भी मैं रिंग में लड़ रही हूं जबकि हालात इस उम्र में विपरीत रहते हैं। लेकिन मेरा रोजाना का संघर्ष जारी है और मैं देश को गौरव दिलाना जारी रखूंगी। मैरीकॉम ने पिछले साल अपना छठा विश्व खिताब जीता था। देश के सर्वाेच्च राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित मैरीकॉम ने जीवन में स्माइल को बहुत महत्वपूर्ण बताते हुए कहा, आप सभी मेरा सफर जानते हैं। इस सफर के दौरान मैंने ढेरों चुनौतियों का सामना किया है और इन चुनौतियों को काबू भी किया है। एक इंसान होने के नाते मेरे लिए भी हालात मुश्किल हो जाते हैं। लेकिन इस स्थिति में एक स्माइल (मुस्कुराहट) से मेरी ताकत वापिस लौट आती है।तीन बच्चों की मां 36 वर्षीय मैरीकॉम ने हाल ही में गुवाहाटी में इंडिया ओपन मुक्केबाजी टूर्नामेंट के दूसरे संस्करण में अपने नए 51 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता था जबकि अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (आईबा) ने उन्हें 45 से 48 किग्रा वजन वर्ग में दुनिया में नंबर एक रैंकिंग दे दी है। मैरीकॉम राजधानी के आईजी स्टेडियम में अपनी ट्रेनिंग भी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि जब वह ट्रेनिंग से थक जाती हैं तो वह खुद को प्रेरित करने के लिए खुश रहने का प्रयास करती हैं और यही बात उन्होंने परिवार में भी नयी ताकत देती है। उन्होंने कहा कि भारत में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है, देश में खेलों में अपार संभावनाएं हैं और जरूरत खिलाड़ियों को सामने लाने की है। उन्होंने साथ ही कहा कि इस मिशन से योग्य लोगों की मदद होगी और उन्हें जरूरत के हिसाब से मेंटरशिप भी दी जाएगी।

  • Hockey: भारत ने फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को दी मात


    भारतीय पुरुष टीम ने एफआईएच सीरीज फाइनल्स में शनिवार को फाइनल मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से मात दे खिताब अपने नाम कर लिया है।भारत के लिए वरुण कुमार, हरमनप्रीत कौर और विवेकसागर प्रसाद सिंह ने गोल किए।वरुण ने दूसरे मिनट में ही गोल कर भारत को 1-0 से आगे कर दिया। हरमनप्रीत ने 11वें मिनट में गोल कर बढ़त को दोगुना और फिर 25वें मिनट में पेनाल्टी स्ट्रोक पर एक और गोल कर तीन गुना कर दिया।35वें मिनट में विवेकसागर ने भारत के खाते में गोल डाला। 49वें मिनट में भारत को पेनाल्टी कॉर्नर मिला और वरुण ने अपना दूसरा गोल किया। 53वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर दक्षिण अफ्रीका ने अपना खाता खोला।

  • सुबह-सुबह स्टेडियम में दौड़ने लगे खेल मंत्री, देखने वाले रह गए दंग


    नवनियुक्त खेल मंत्री किरण रिजिजू ने शुक्रवार को दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में अभ्यास कर रहे खिलाड़ी उस समय हैरान कर दिया जब वे सुबह-सुबह जोगिंग में उनका साथ देने के लिए वहां पहुंचे। रिजिजू खेल परिसर में सुविधाओं का जायजा लेने के लिए स्टेडियम पहुंचे थे।खेल मंत्री ने इस दौरान खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों से बात की और उनसे देश में खेल संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए सुझाव मांगे। खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों ने इस अनऔपचारिक वार्तालाप में खेल मंत्री से अपने विचार साझा किए।वार्मअप करने के बाद मंत्री ने भाला फेंके पर अपने हाथ आजमाए। इसके बाद उन्होंने स्टेडियम में खिलाड़ियों के साथ ही सुबह का नाश्ता किया।नाश्ते के टेबल पर रिजिजू ने जिमनास्टिक के खिलाड़ियों से इंदिरा गांधी स्टेडियम में उनके हाल ही में खत्म हुए शिविर के बारे में जानकारी ली।

  • हॉकी: भारत फाइनल में, मिला ओलंपिक क्वालिफायर का टिकट


    रमनदीप सिंह के दो शानदार गोलों की बदौलत मेजबान भारत ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता जापान को शुक्रवार को कलिंगा स्टेडियम में 7-2 से पीटकर एफआईएच सीरीज हॉकी फाइनल्स के खिताबी मुकाबले में जगह बना ली और इसके साथ ही उसने टोक्यो ओलंपिक के क्वालिफाायर टूर्नामेंट का टिकट भी हासिल कर लिया। भारत का इस टूर्नामेंट के फाइनल में दक्षिण अफ्रीका के साथ मुकाबला होगा जिसने अन्य सेमीफाइनल में अमेरिका की चुनौती पर 2-1 से काबू पा लिया। इस टूर्नामेंट से दो फाइनलिस्ट टीमों को इस साल के आखिर में होने वाले टोक्यो ओलंपिक के क्वालिफायर टूर्नामेंट का टिकट मिलना था और भारत तथा दक्षिण अफ्रीका ने फाइनल में पहुंचकर यह टिकट हासिल कर लिया। फाइनल और तीसरे स्थान के मैच शनिवार को खेले जाएंगे। भारत की तरफ से रमनदीप ने 23वें और 37वें, हरमनप्रीत सिंह ने सातवें, वरुण कुमार ने 14वें, हार्दिक सिंह ने 25वें, गुरसाहिबजीत सिंह ने 43वें और विवेक प्रसाद ने 47वें मिनट में गोल कर टोक्यो ओलंपिक के मेजबान जापान को ध्वस्त कर दिया। हालांकि इस हार का जापान पर कोई असर नहीं पड़ा क्योंकि मेजबान होने के नाते वह ओलंपिक में खेलेगा। सेमीफाइनल में दूसरे ही मिनट में जापान ने केंजी किताजातो के मैदानी गोल से मेजबान टीम और उसके समर्थकों को चौंका दिया। लेकिन इसके बाद भारतीय टीम पूरी तरह मुकाबले पर छायी रही। भारत ने गत वर्ष एशियाई खेलों के ग्रुप मुकाबले में जापान को 8-0 से पीटा था। हालांकि सेमीफाइनल में भारत को मलेशिया से सडन डैथ में हार का सामना करना पड़ा था। शुरुआत में पिछडऩे के बाद भारत को हरमनप्रीत सिंह ने सातवें ही मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल कर बराबरी दिला दी। हरमनप्रीत का यह 100वां अंतर्राष्ट्रीय मैच भी था। वरुण कुमार ने 14वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर भारत का दूसरा गोल दागा। जापान ने 20वें मिनट में कोता वतानबे के मैदानी गोल से 2-2 से बराबरी हासिल कर ली। लेकिन रमनदीप ने 23वें और हार्दिक सिंह ने 25वें मिनट में गोल कर भारत को 4-2 से आगे कर दिया। रमनदीप ने 37वें मिनट में पेनल्टी कार्नर से और गुरसाहिबजीत सिंह ने 43वें मिनट में मैदानी गोलकर भारत को तीसरे क्वार्टर तक 6-2 की बढ़त दिला दी। विवेक प्रसाद ने 47वें मिनट में मैदानी गोल कर भारत को 7-2 से आगे कर दिया। पांच गोल की बढ़त बनाने के बाद भारतीय टीम सुनिश्चित हो चुकी थी और कलिंगा स्टोडियम में हजारों भारतीय प्रशंसक खुशी से झूम रहे थे। भारत ने 7-2 से मुकाबला जीत लिया। भारत और जापान के बीच अबतक 12 बार किसी भी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में मुकाबला हुआ है और हर बार भारतीय टीम जीती है। ओवरऑल दोनों टीमों के बीच 84 मुकाबलों में 76 भारत ने और चार जापान ने जीते हैं। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने अमेरिका की चुनौती को आखिरी मिनट के गोल से काबू कर लिया। अमेरिका ने अकी कैपलर के 15वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर किए गए गोल से बढ़त बना ली। दक्षिण अफ्रीका को बराबरी पर आने के लिए 42वें मिनट तक इंतजार करना पड़ा। ऑस्टिन स्मिथ ने पेनल्टी कार्नर पर बराबरी का गोल दागा। निकोलस स्पूनर ने 60वें मिनट में मैदानी गोल कर दक्षिण अफ्रीका को फाइनल में पहुंचाने के साथ क्वालिफायर टूर्नामेंट का टिकट भी दिला दिया। इससे पहले रुस ने पोलैंड को 3-2 से हराकर पांचवां स्थान किया। पोलैंड को छठा स्थान मिला।

samacharjagat

dainiksaveratimes