Last Updated: 21 Sep 2019 09:03 PM

India Top Stories

Lokmat Samachar

bhaskar

  • खट्‌टर ने कहा- असम की तरह राज्य में एनआरसी लागू होगा, हुड्डा बोले- विदेशियों की पहचान सरकार का जिम्मा

    पंचकूला. हरियाणा के मुख्यमंत्रीमनोहर लाल खट्‌टर ने असम की तरह हीहरियाणा में एनआरसी लागू करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि परिवार पहचान पत्र पर हरियाणा सरकार तेजी से कार्य कर रही है। इसके आंकड़ों का उपयोग राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर में भी किया जाएगा। दूसरी ओर, खट्टर के इस बयान पर कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा किमुख्यमंत्री ने जो भी कहा है वह पहले से ही कानून में है। विदेशियों को राज्य से बाहर जाना होगा। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि विदेशियों को पहचान करे।

    राज्य में महा जनसंपर्क अभियान के तहत खट्‌टररविवार को पंचकूला में हरियाणा राज्य मानवाधिकार आयोग के पूर्व चेयरमैन न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) एचएस भल्ला के आवास पर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा ‘राज्य में कानून आयोग का गठन करने पर भी विचार किया जा रहा है।न्यायमूर्ति एचएस भल्ला सेवानिवृत्तिके बाद भी एनआरसीडेटा का अध्ययन करने के लिए असमजा रहे हैंं। उनका यह डेटा राज्य में स्थापित किए जाने वाले एनआरसीके लिए उपयोगी होगा।’

    स्वैच्छिक विभाग का गठन भी किया जाएगा
    मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हरियाणा में सोशल ऑडिट सिस्टम भी लागू होगा। इसके तहत समाज के बुद्धिजीवी विकास कार्यों का ऑडिट कर सकेंगे। इसमें रिटायर्ड लोगों, अध्यापकों, इंजीनियरों और विशेषज्ञों को शामिल किया जाएगा।महा जनसंपर्क अभियान के बारे मेंउन्होंने ने बताया कि इसका उद्देश्य सरकार द्वारा पिछले पांच वर्षों के दौरान किएगए कार्यों की जानकारी लोगों तक पहुंचाना है।’

    मनोज तिवारी ने दिल्ली में एनआरसी लागू करने की मांग की थी
    असम में एनआरसी की अंतिम सूची 31 अगस्त को जारी कर दी गई थी। सूची में 19 लाख 6 हजार 657 लोग बाहर थे। इसमें वे लोग भी शामिल हैं, जिन्होंने कोई दावा पेश नहीं किया था। 3 करोड़ 11 लाख 21 हजार 4 लोगों को वैध करार दिया गया है। असम में एनआरसी की सूची जारी होने के बाद दिल्ली भाजपा प्रमुख और सांसद मनोज तिवारी ने राष्ट्रीय राजधानी में भी एनआरसी लागू करने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि अवैध रूप से दिल्ली आकर रह रहे लोगों के चलते राजधानी में स्थिति ठीक नहीं है।



    आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
    मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर।

  • मलाला की अपील- कश्मीरी बच्चों की मदद करें, भाजपा सांसद बोलीं- पाक में अल्पसंख्यकों की हालत देखें

    नई दिल्ली. नोबेल शांति पुरस्कार विजेता पाकिस्तानी सामाजिक कार्यकर्ता मलाल युसुफजई ने संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर में शांति स्थापित करने और बच्चों को स्कूल जाने में मदद करने की अपील की। इस पर कर्नाटक से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद शोभा करंदलाजे ने जवाब देते हुए कहा उन्हें पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों पर हो रहे अत्याचारों पर आवाज उठानी चाहिए।



    आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
    सामाजिक कार्यकर्ता मलाला युसुफजई और भाजपा सांसद शोभा करंदलाजे।

  • इजरायल से स्पाइस-2000 बमों की पहली खेप मिली, बालाकोट स्ट्राइक में भी इनका इस्तेमाल हुआ था

    नई दिल्ली. भारतीय वायुसेना ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में सफलतापूर्वक इस्तेमाल की गई ‘बिल्डिंग ब्लास्टर’ के नाम से प्रसिद्ध स्पाइस-2000 बमों की पहली खेप हासिल कर ली है। वायुसेना सूत्रों ने न्यूज एजेंसी को बताया कि इजरायली कंपनी ने भारत को स्पाइस-2000 बमों की डिलीवरी शुरू कर दी है और हाल ही में इसकी पहली खेप मिली है।

    उन्होंने बताया कि यह बम मिराज-2000 फाइटर एयरक्राफ्ट के घरेलू बेस ग्वालियर को हासिल हुआ है क्योंकि यही एयरक्राफ्ट इजरायली बमों को फायर करने में सक्षम है। भारतीय वायुसेना ने इजरायल के साथ मार्क 84 वारहेड और बमों को हासिल करने के लिए 250 करोड़ रु. के समझौते पर हस्ताक्षर किया था। इसमें बिल्डिंग को पूरी तरह ध्वस्त करने की क्षमता है।

    वायुसेना को इजरायल से 100 स्पाइस बम मिलेंगे

    उन्होंने बताया कि यह समझौता इसी साल जून में 100 स्पाइस बमों को हासिल करने के लिए हुआ था। वायुसेना बालाकोट स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर सफलतापूर्वक एयर स्ट्राइक करने के बाद इन बमों को हासिल करना चाहती थी। वायुसेना ने आतंकियों के ठिकानों पर मिराज-2000 लड़ाकू विमान से स्पाइस-2000 बमों को गिराया था।



    आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
    स्पाइस-2000 बम।- फाइल

  • ईरान ने अरामको पर हमले में हाथ होने के अमेरिकी दावे को खारिज किया, कहा- युद्ध के लिए तैयार

    नई दिल्ली. ईरान ने सऊदी अरब में दुनिया के सबसे बड़ी तेल सप्लाई संयंत्र अरामको पर हमले में हाथ होने के अमेरिकी आरोप को खारिज किया है। ईरान ने चेतावनी देते हुए कहा कि खाड़ी क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य अड्डे और विमानवाहक पोत उसकी मिसाइलों के दायरे में हैं। हम हमेशा युद्ध के लिए तैयार हैं। यमन के ईरान समर्थित हूती समूह ने शनिवार को अरामको पर हमले की जिम्मेदारी ली थी, लेकिन अमेरिका ने हमले के पीछे ईरान का हाथ होने का आरोप लगाया था।

    अमेरिका के सुरक्षा सलाहकार माइक पॉम्पिओ ने कहा कि अरामको पर यमन से हमला होने के कोई प्रमाण नहीं मिले हैं। यमन में सऊदी गठबंधन और हूती विद्रोहियों के पिछले पांच साल से बीच संघर्ष जारी है। रियाद ने भी तेल संयंत्रों पर हमलों के लिए ईरान को ही जिम्मेदार ठहराया है।

    ईरानी विदेश मंत्रालय ने कहा- अमेरिकी आरोप आधारहीन
    ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्बास मौसावी ने स्थानीय मीडिया से बात करते हुए अमेरिकी आरोपों को आधारहीन करार दिया है। वहीं सेना के एक सीनियर कमांडर ने दावा किया है कि ईरान युद्ध के लिए पूरी तरह तैयार है। एक अर्धसरकारी न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, कमांडर अमिराली हाजीज़ेद्दाह ने कहा सभी को ये जान लेना चाहिए कि 2000 किलोमीटर के दायरे में मौजूद अमेरिकी सैन्य अड्डे और विमानवाहक पोत हमारी मिसाइलों की जद में हैं।

    मध्य पूर्व में तनाव उस वक्त बढ़ गया था, जब अमेरिका ने ईरान से तेल सप्लाई पर लगे प्रतिबंध को बढ़ा दिया था। अरामको पर हमला उस समय हुआ, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के साथ मुलाकात की संभावना जताई थी। हालांकि, ईरान ने प्रतिबंध हटने तक अमेरिका के साथ किसी तरह की बातचीत से इनकार कर दिया था। माइक पॉम्पिओ ने शनिवार को ट्वीट करके कहा था कि ईरान ने तनाव दूर करने की संभावनाओं के बीच दुनिया की ऊर्जा सप्लाई के केंद्र अरामको पर हमला किया है।

    ईरान ने घटनाओं के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की बात भी कही थी

    ईरान की कुछ मीडिया रिपोर्ट में भी दावा किया गया था कि ईरान समर्थित अर्धसैनिक बलों ने ही अरामको पर हमले को अंजाम दिया था। हालांकि, बाद में ईरान ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए अपनी जमीन को हमले के लिए इस्तेमाल न होने देने का दावा किया था। ईरान ने अपनी जमीन को इस तरह की घटनाओं के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की बात भी कही थी।

    हमले के बाद तेल की कीमतों में उछाल की आशंका
    अरामको संयंत्र सऊदी अरब की कुल तेल सप्लाई का आधे से ज्यादा, तो दुनिया का 5 फीसदी से ज्यादा तेल सप्लाई करता है। इस हमले के बाद अरामको ने कहा था कि हमले के बाद तेल सप्लाई में 5.7 मिलियन बैरल प्रतिदिन की कमी आई है। संयंत्र के अधिकारियों ने कहा कि तेल सप्लाई के पहले की तरह बहाल होने के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की जा सकती है। दुनिया के सबसे बड़े इस तेल शोधन संयंत्र पर हुए ड्रोन हमले के बाद ही मिडिल ईस्ट क्षेत्र में तनाव बढ़ गया था। इस हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में तेल की कीमतों में 3 से 5 डॉलर प्रति बैरल का उछाल आने का अनुमान है।

    सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल सप्लायर
    सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल सप्लायर है। दुनिया को यहाँ से हर दिन 7 मिलियन बैरल से ज्यादा तेल की सप्लाई की जाती है। अरामको पर हमले के बाद सऊदी अधिकारियों ने तेल सप्लाई में कटौती आने की बात कही है। वहीं जानकारों ने कच्चे तेल की कीमतें 100 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर जाने की आशंका जाहिर की है। इसकी एक वजह रियाद से तेल सप्लाई की क्षतिपूर्ति न हो पाना भी है। हालांकि, रियाद ने अपने तेल भंडारों से तेजी से सप्लाई करने की बात कही है। साथ ही अमेरिका ने भी जरूरत पड़ने पर अपने आपातकालीन रिजर्व भंडार खोलने का आश्वासन दिया है।



    आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
    अरामको में विस्फोट (फाइल फोटो)।

  • गोदावरी नदी में चट्टान से टकराकर नाव डूबी; 12 की मौत, 31 लापता

    अमरावती.आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में रविवार दोपहर पर्यटकों को लेकर जा रही नाव गोदावरी नदी में डूब गई। पुलिस सूत्रों ने न्यूज एजेंसी को बताया कि नाव आंध्र पर्यटन विकास निगम की थी। इसमें 9 क्रू मेंबर और 51 पर्यटक सवार थे। हादसे में 12 लोगों की मौत हो गई, 17 को बचाया गया जबकि 31 लापता हैं। एनडीआरएफ की दो टीमें बचाव अभियान में जुटी हैं। बारिश के कारण गोदावरी नदी में बहाव तेज है। हादसा उस वक्त हुआ, जब नाव नदीं में एक चट्टान से टकरा गई।

    पुलिस अधीक्षक अदनान नईम असमी ने बताया कि नाव प्रमुख पर्यटन स्थल पापीकोंडालु से रवाना हुई थी और कच्छलुरू के पास डूब गई। सरकार ने लोगों को ढूंढने के लिए हेलिकॉप्टर की मदद लेने का निर्देश दिया। जलस्तर अधिक होने के कारण बचाव अभियान में कठिनाई आई। मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजन के लिए 10-10 लाख रु. मुआवजे का ऐलान किया है।


    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर दुख जताया। उन्होंने ट्वीट किया, “आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी में नाव डूबने की घटना से बहुत दुखी हूं। मेरी संवेदना पीड़ित परिवारों के साथ है। घटनास्थल पर बचाव अभियान अभी भी चल रहाहै।”

    गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, “आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में नाव दुर्घटना से हुई क्षति काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं इससे काफी दुखी हूं। इस हादसे में जिन्होंने भी अपने प्रियजनों को खोया है, मेरी संवेदना उनके साथ है। ईश्वर इस क्षति से उबरने में उनकी सहायता करे।”

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “आंध्र प्रदेश में गोदावरी नदी में नाव दुर्घटना के बारे में सुनकर दुखी हूं। इस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। मैं प्रार्थना करता हूं कि लापता हुए लोग सुरक्षित बाहर आ जाएं।”

    हरियाणा में यमुना नदी में डूबने से 3 की मौत

    हरियाणा के पानीपत में 7 युवक यमुना नदी में डूब गए। सभी हवन के बाद राख को विसर्जित करने आए थे। इनमें से एक को बचा लिया गया, जबकि 3 के शव निकाले गए। रेस्क्यू टीम बाकी 3 युवकों को तलाशने में जुटी है। सभी उत्तर प्रदेश के मलकपुर गांव के बताए जा रहे हैं।



    आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
    नदी का बहाव तेज होने से बचाव अभियान में हेलिकॉप्टर की मदद ली गई।
    Andhra pradesh: a boat capsizes in godavari ,50 persons missing,rescue underway
    Andhra pradesh: a boat capsizes in godavari ,50 persons missing,rescue underway

jagran

Amar ujala

NavBharat Times

Nai Dunia

Deshbandhu

Dabang Dunia

Jansatta

livehindustan

hindi.moneycontrol

aajtak.intoday

dainiktribuneonline

pratahkal

loktej

tehelkahindi

hindi.business-standard

sandhyapravakta

divyahimachal

navbharat

chauthiduniya

sachkaujala

sanmarg

tarunmitra